सपा-कांग्रेस में गठबंधन, सीटों के इस फार्मूले पर लड़ेंगे चुनाव

Updated on: 16 October, 2019 11:00 AM
गठबंधन पर अवरोध की तमाम अटकलों को विराम देते हुये भाजपा को उत्तर प्रदेश की सत्ता में आने से रोकने के संकल्प के साथ सत्तारूढ समाजवादी पार्टी (सपा) और कांग्रेस ने आज मिलकर चुनाव लड़ने का ऐलान किया। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राजबब्बर और सपा के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम ने संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में दोनो पार्टियों के गठबंधन की औपचारिक घोषणा की। इस मौके पर सपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष किरणमय नन्दा भी मौजूद थे। उत्तम ने कहा कि गठबंधन के तहत सपा 298 और कांग्रेस 105 विधानसभा क्षेत्रों में अपने अपने प्रत्याशी खडा करेगी। सीटों के इस बंटवारे के बारे में हालांकि उन्होने कोई ब्योरा नही दिया। सपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि भाजपा और बसपा को सूबे की सत्ता में आने से रोकने के लिये सपा और कांग्रेस ने मिलकर चुनाव लडने का फैसला किया है। दोनो दल मिलकर पूरे दमखम से चुनाव लडेंगे ताकि विकास के पयार्य अखिलेश यादव एक बार फिर मुख्यमंत्री का दायित्व संभाले और सूबे के विकास को और गति दे सके। इस मौके पर कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राजबब्बर ने कहा कि भाजपा की ध्रुवीकरण और विघटनकारी कोशिशों को धूल चटाने और राजनैतिक एवं वैचारिक ताकतों को मजबूत करने के मंसूबे के साथ हुआ यह गठबंधन ऐतिहासिक है। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के रचनात्मक प्रयासों से यह गठबंधन संभव हुआ। दोनों दलों की साझा सरकार बनने के एक सप्ताह के भीतर साझा एजेंडा प्रस्तुत किया जायेगा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सपा गठबंधन सत्ता में आने पर सामाजिक न्याय और कमजोर तबकों के सशक्तिकरण के लिये कटिबद्ध रहेगा। जाति और धर्म से ऊपर उठकर कमजोर तबकों की माली हालत में सुधार करने के हरसंभव प्रयास किये जायेंगे।
View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया