पीएम के पास पहुंचा बनारस का घमासान

Updated on: 17 October, 2019 07:07 AM
यूपी विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के बनारस के प्रत्याशी घोषित करने के बाद पार्टी में मचे घमासान का मामला अब बनारस के एमपी व देश के पीएम के पास पहुंच गया है। सूत्रों की मानें तो उन्होंने पूरे मामले की समीक्षा के साथ ही कार्यकर्ताओं की नाराजगी दूर करने के लिए पार्टी के आलाकमान से कहा है। वर्तमान में बनारस से जुड़े पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की मौजूदगी की वजह भी यही बतायी जा रही है। चर्चा है कि ये नेता अपनी रिपोर्ट तैयार करके पीएम को सौंपेंगे। उनसे निर्देश मिलने के बाद आगे की रणनीति तैयार की जाएगी. बन नहीं पा रहा माहौल पार्टी के नेताओं का मानना है कि प्रत्याशी घोषित होने के बावजूद पार्टी का माहौल बनारस में अभी नहीं बन पा रहा है। इसकी वजह टिकट बंटवारे को लेकर कार्यकर्ताओं की नाराजगी है। शहर के वो‌र्ट्स प्रत्याशियों से अधिक चर्चा उनका विरोध करने वालों की कर रहे हैं। लगभग हर रोज ही कोई न कोई विरोधी सामने आ जा रहा है। शहर दक्षिणी के सात बार के विधायक श्यामदेव राय चौधरी भी पार्टी से बेहद नाराज हैं। उन्होंने घोषित प्रत्याशी के लिए प्रचार करने से भी इनकार कर दिया है। वहीं सोशल मीडिया से लेकर अन्य जनसम्पर्क माध्यमों पर प्रत्याशी बदलने की चर्चा तेज हो गयी है। इसका भी प्रभाव यह है कि कार्यकर्ता किसका प्रचार करें यह अभी तय नहीं कर पा रहे हैं। चल रही मनाने की कोशिश कुछ दिनों से सेंट्रल मिनिस्टर मनोज सिन्हा और महेन्द्र नाथ पाण्डेय बनारस में मौजूद हैं। दोनों बनारस से अरसे से जुड़े हैं और यहां की राजनीति की अच्छी समझ रखते हैं। सूत्रों की मानें तो दोनों को पीएम ने यहां भेजा है। पार्टी के स्थानीय पदाधिकारियों और संघ के वरिष्ठ कार्यकर्ताओं के साथ लगातार बैठक कर रहे हैं। सबके सामने सिर्फ एक ही मुद्दा है कि नाराज कार्यकर्ताओं को कैसे मनाया जाए। जिन्हें नाराजगी है उनका भी मन टटोल रहे हैं। पूरे प्रकरण की रिपोर्ट तैयार की जा रही है। इसे जल्द ही पीएम को सौंपा जाएगा। उसके बाद जो निर्देश मिलेगा उसी के मुताबिक आगे की रणनीति बनायी जाएगी। वहीं इस बाबत पार्टी के महानगर प्रवक्ता संजय भारद्वाज का कहना है कि पार्टी में सब कुछ ठीक- ठाक है। कहीं किसी को नाराजगी होगी तो उसे दूर कर लिया जाएगा.
View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया