मेरठ रैली में मोदी का तंज-एसपी-कांग्रेस कल तक थे दुश्मन, आज मिल रहे हैं गले

Updated on: 19 November, 2019 11:54 AM
मेरठ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को यूपी के मेरठ में एक चुनावी रैली को संबोधित किया। उन्होंने अपने भाषण की शुरुआत 1857 के स्वतंत्रता संग्राम के जिक्र से किया। PM ने कई बार सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी (SP) के परिवारवाद और कांग्रेस-एसपी गठबंधन की तीखी आलोचना की। मोदी ने कांग्रेस-एसपी गठबंधन पर सवाल उठाते हुए कहा कि दोनों पार्टियां कुछ समय पहले तक एक-दूसरे को नीचा दिखाने में लगी रहती थीं, लेकिन फिर एकाएक चीजें बदल गईं और दोनों साथ हो गए। मोदी यादव परिवार के आंतरिक कलह और उठापटक पर भी जमकर बरसे। वह एसपी के 'पापा, चाचा, चाची, भतीजा' वाले परिवारवाद पर चुटकी लेते नजर आए। मोदी ने राहुल गांधी का नाम लिए बिना कहा कि कुछ समय पहले तक कांग्रेस गांव-गांव घूमकर अखिलेश सरकार पर आरोप लगा रही थी, लेकिन अब वही कांग्रेस एसपी के साथ मिलकर 'बचाओ-बचाओ' चिल्ला रही है। अपने पूरे भाषण में मोदी ने जहां मेरठ के लोगों से विकास की राजनीति के नाम पर BJP को वोट देने की अपील की, वहीं उन्होंने कांग्रेस-एसपी के चुनावी गठबंधन को आड़े हाथों लिया। उन्होंने राज्य में किसानों की दुर्दशा और कानून-व्यवस्था की बदहाली की ओर भी लोगों का ध्यान खींचने की कोशिश की। पढ़िए, PM मोदी के इस भाषण की खास बातें: अखिलेश-राहुल पर निशाना PM ने कहा कि कुछ दिनों पहले कांग्रेस गांव-गांव रथयात्राएं निकालकर समाजवादी पार्टी सरकार के खिलाफ भाषण देते थे। उन्होंने कांग्रेस और एसपी गठबंधन पर सवाल करते हुए कहा, 'राजनीति में गठबंधन तो देखे हैं, लेकिन ऐसा गठबंधन पहली बार देखा कि दो सुबह शाम एक दूसरे के खिलाफ ... आज से नहीं.. पिछले कई दशकों से एक दूसरे को खत्म करने का कोई मौका नहीं छोड़ते थे, आज गले लगकर बचाओ बचाओ बचाओ... जो खुद को बचा नहीं सकते, वे UP को क्या बचा पाएंगे। देश की जनता ने जिन्हें देशभर में खत्म कर दिया, वही जनता UP में इन्हें क्या बचाएगी?' समाजवादी पार्टी-कांग्रेस के गठजोड़ पर किया हमला प्रधानमंत्री ने कहा कि वह प्रदेश की सहायता के लिए दिल्ली से जो भेजेंगे, वह या तो अटक जाएगा या फिर इस्तेमाल में ही नहीं लाया जाएगा। उन्होंने एसपी पर निशाना साधते हुए बिना गायत्री प्रजापित का नाम लिए कहा, 'दो महीने पहले तक ये कहते थे कि फलां माफिया है, भ्रष्टाचारी है। फिर ऐसे लोगों को एसपी ने टिकट क्यों दिया? इनके इरादे ठीक नहीं हैं।' प्रधानमंत्री ने कहा कि एसपी और कांग्रेस के गठजोड़ का खेल जनता समझती है और वही जनता इन्हें हराएगी। समाजवादी पार्टी के पारिवारिक विवाद पर भी ली चुटकी पिछले कुछ महीनों से जारी एसपी के पारिवारिक वर्चस्व की लड़ाई का जिक्र करते हुए मोदी ने कहा , 'सरकार ने सफाई अभियान के लिए UP सरकार को 950 करोड़ रुपये दिए और ये चालीस करोड़ रुपये भी खर्च नहीं कर पाए। वे पूरे दिन... कभी चाचा तो कभी पापा, तो कभी चाची तो कभी भतीजा... कभी मामा तो कभी मामा का साला... तो कभी साले का भतीजा... तो कभी भतीजे की बहू... न जाने कहां कहां क्या हाल करके रखा है उत्तर प्रदेश का?' एसपी के पारिवारिक संकट का जिक्र करते हुए उन्होंने अखिलेश पर निशाना साधा और कहा, 'पहले ये परिवार के बारे में सोचते थे, फिर अपने बारे में सोचने लगे। अब कुर्सी के बारे में सोच रहे हैं।' SCAM के खिलाफ है BJP की लड़ाई प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि BJP की लड़ाई SCAM के खिलाफ है। SCAM की परिभाषा समझाते हुए उन्होंने कहा कि BJP की लड़ाई 'समाजवादी पार्टी, कांग्रेस, अखिलेश और मुलायम' के खिलाफ है। उन्होंने रैली में मौजूद लोगों से सवाल करते हुए पूछा, 'आपको SCAM चाहिए कि विकास और तरक्की चाहिए? जबतक UP को SCAM से मुक्त नहीं किया जाता, तब तक यहां सुख-चैन के दिन लौटकर नहीं आएंगे।' 'ढाई साल में मेरे नाम पर कोई कलंक है क्या?' मोदी ने कहा कि प्रधानमंत्री बनने के बाद ढाई साल के कार्यकाल में उन्होंने कोई ऐसा काम नहीं किया जिससे कि देश का नुकसान हो। उन्होंने कहा कि उनके नाम पर कोई कलंक नहीं है। PM ने कहा कि ढाई सालों में उन्होंने उत्तर प्रदेश के विकास के लिए हरसंभव कोशिश की, लेकिन अब भी उनके ऊपर इस प्रदेश का कर्ज बाकी है। मोदी ने कहा कि उत्तर प्रदेश ने उन्हें प्रधानमंत्री बनाया है और इसीलिए वह यहां के लोगों के लिए बहुत कुछ करना चाहते हैं। प्रधानमंत्री ने कहा, 'मैं उत्तर प्रदेश की भलाई के लिए कितना भी काम करूं, लेकिन अगर यहां हमारी सरकार नहीं हुई, तो सारे अच्छे काम लखनऊ में अटक जाएंगे।' 'मैं दिल्ली से जो भेजता हूं, वह लखनऊ में अटक जाता है' मोदी ने कहा, 'अगर यहां की सरकार को घर नहीं भेजा गया, तो दिल्ली से मैं जो भी भेजता हूं वह लखनऊ में अटक जाएगा।' उन्होंने मेरठ को पश्चिमी उत्तर प्रदेश के विकास का द्वार बताया। उन्होंने कहा कि मेरठ के पास औद्योगिक क्षेत्र में बहुत आगे जाने की क्षमता है, लेकिन यहां की स्थिति फिलहाल काफी चिंताजनक है। उन्होंने UP में कानून-व्यवस्था की स्थिति पर प्रश्न उठाते हुए कहा कि यहां सरकार माफियाओं और गुंडों को आश्रय देती है। 'बीमारी पर भी राजनीति करती है राज्य सरकार' प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि उनकी सरकार ने UP में महिलाओं और बुजुर्गो की स्वास्थ्य संबंधी सुविधाओं के लिए 4,000 करोड़ का फंड दिया था, लेकिन दो साल बाद भी इसका केवल ढाई हजार करोड़ ही अखिलेश सरकार खर्च कर पाई। उन्होंने कहा कि इस रकम का हिसाब भी अभी तक नहीं दिया गया है। मोदी ने कहा, 'बीमार लोगों के लिए केंद्र सरकार पैसे भेजती थी, लेकिन ऐसी क्या राजनीति थी कि आपने जरूरतमंद गरीबों को वह रकम नहीं दी? क्या बीमारी का भी वोट बैंक होता है?' अमृत योजना के लिए UP सरकार को दिए 7,200 करोड़ मोदी ने कहा कि सड़कों, गंदगी की निकासी और सूइज प्रबंधन के लिए केंद्र ने प्रदेश सरकार को 7,200 करोड़ रुपये दिए। दो साल का समय बीत जाने पर भी अखिलेश सरकार इस पैसे का उपयोग नहीं कर सकी। उन्होंने कहा, 'ऐसा नहीं कि इस पैसे को निकालने की राज्य सरकार की नीयत नहीं थी, लेकिन दिल्ली में मैं बैठा हूं। मैं पाई-पाई का हिसाब पूछता हूं, तो इनका पसीना निकल जाता है। यह राज्य सरकार अच्छे कामों में रुकावट डालती है।' 2022 तक हर नागरिक के पास होगा अपना घर PM ने कहा, 'मैंने बीड़ा उठाया है कि 2022 तक भारत के हर नागरिक के पास अपना घर होगा। राज्य सरकारों को इसके लिए गरीबों और वंचितों की श्रेणी में आने वाले लोगों की लिस्ट केंद्र के पास भेजनी थी। केंद्र ने बार-बार राज्य सरकार को चिट्ठी भेजी, लेकिन एक भी चिट्ठी का जवाब नहीं भेजा गया। फिर जब केंद्र सरकार ने सीधी अर्जियां लेना शुरू कर दिया, तो राज्य सरकार डर गई और सूची तैयार करने लगी। क्या चौबीसों घंटे राजनीति करते रहोगे? हमेशा किसी को गिराने की सोचते रहोगे?' गन्ना किसानों से भी किया वादा प्रधानमंत्री ने कहा, 'लोग चीनी खा-खाकर मोटे हो जाते हैं, बेच-बेचकर मोटे हो जाते हैं, लेकिन गन्ना किसान बेचारे गरीब रह जाते हैं।' मोदी ने कहा कि केंद्र में आने के बाद उनकी सरकार ने गन्ना किसानों को मिलने वाले बकाया भुगतान की 22 हजार करोड़ रुपए की रकम में से 99 फीसद राशि सीधे किसानों के बैंक खातों में भेजने की व्यवस्था की। उन्होंने वादा किया कि यूपी में जीत मिलने पर उनकी सरकार 14 दिनों के अंदर गन्ना किसानों का भुगतान सुनिश्चित करेगी। BJP शासित प्रदेशों में किसानों की हालत अच्छी मोदी ने कहा कि जिन-जिन राज्यों में BJP सत्ता में है, वहां सरकार किसानों से 40 फीसद पैदावार खरीद लेती है। PM ने सवाल उठाते हुए कहा कि क्या कारण है कि अखिलेश सरकार प्रदेश के किसानों की कुल उपज का केवल 3 प्रतिशत ही खरीदती है। वन रैंक-वन पेंशन योजना, सर्जिकल स्ट्राइक का किया जिक्र मोदी ने कहा कि पहली बार देश में ऐसी सरकार आई है, जिसने देश के फौजियों के बारे में इतना सोचा है। उन्होंने 'वन रैंक वन पेंशन' योजना को सफलतापूर्वक लागू करने को अपनी सरकार की बड़ी उपलब्धि बताया। सर्जिकल स्ट्राइक के संदर्भ में उन्होंने कहा कि सेना को कार्रवाई नहीं करने दी जाती थी, जिससे कि उनका मनोबल गिर जाता था। मोदी ने कहा कि उनकी सरकार ने सैनिकों के मनोबल समझा और इसका नतीजा सर्जिकल स्ट्राइक के रूप में सामने आया। उन्होंने कहा कि आज तक दुनिया के अलग-अलग देश अध्ययन कर रहे हैं कि भारत ने पाकिस्तान की जमीन पर जाकर ऐसी कार्रवाई को किस तरह अंजाम दिया। PM ने कहा कि भारतीय सेना दुनिया की सबसे सक्षम सेनाओं में से एक है और ऐसे पराक्रम वाली सेना को 'वन रैंक वन पेंशन' मिलना ही चाहिए।
View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया