पाक खुफिया एजेंसी ISI के 11 संदिग्ध एजेंट मध्य प्रदेश से अरेस्ट

Updated on: 20 November, 2019 03:23 AM
मध्य प्रदेश में एटीएस ने गुरुवार को राज्य के विभिन्न हिस्सों से पाक खुफिया एजेंसी आईएसआई के 11 संदिग्ध एजेंटों को गिरफ्तार कर लिया। ये भारत में पाक के लिए जासूसी करने वालों को आर्थिक मदद उपलब्ध कराते थे। मध्य प्रदेश एटीएस के प्रमुख संजीव शमी ने बताया कि ये गिरोह पाक स्थित आकाओं के निर्देश पर सैन्य खुफिया जानकारी जुटाता था। एटीएस ने ग्वालियर से पांच, जबलपुर से दो, भोपाल से तीन और सतना से एक व्यक्ति को पकड़ा है। जम्मू-कश्मीर में गत नवंबर में गिरफ्तार दो संदिग्ध जासूस इसी गिरोह से जुड़े थे। अलग टेलीफोन एक्सचेंज था संजीव शमी ने बताया कि पाक में बैठे आकाओं से संपर्क के लिए आरोपियों ने इंटरनेट के माध्यम से समानांतर टेलीफोन एक्सचेंज भी बना रखा था। उन्होंने बताया कि इस पूरे रैकेट में निजी मोबाइल कंपनियों के कर्मचारियों की मिलीभगत के संकेत भी मिले है। बताया जा रहा है कि आरोपी कॉल सेंटर का संचालन करते थे। इसके जरिए नौकरी और लॉटरी की आड़ में सूचनाओं का लेन-देन किया जा रहा था। यूपी एटीएस ने हाल ही में दिल्ली के महरौली में ऐसा ही गिरोह पकड़ा था। पिछले साल जम्मू-कश्मीर में सुखविंदर और दादू नाम के दो आरोपियों की गिरफ्तारी हुई थी। इन दोनों से हुई पूछताछ में खुलासा हुआ था कि देशद्रोही गतिविधियों में मध्य प्रदेश से मदद मुहैया कराई जा रही थी। इस इनपुट के आधार पर एटीएस ने अपना जाल बिछाते हुए अब तक 11 लोगों को धरदबोचा है। गौरतलब है कि एनआईए ने पिछले साल फरवरी में भोपाल से पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के संदिग्ध एजेंट को गिरफ्तार किया है। एजेंट अजहर इकबाल अपने चाचा के घर पर फरारी काट रहा था।
View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया