वाराणसी में अपना प्रत्याशी उतारेंगे स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद, ये होगा चुनावी मुद्दा

Updated on: 06 December, 2019 06:06 AM

गणेश प्रतिमा विसर्जन को लेकर संतों-बटुकों पर लाठीचार्ज और अन्याय प्रतिकार यात्रा के दौरान गोदौलिया चौराहे पर हुई आगजनी-तोड़फोड़ का मामला चुनावी मुद्दा बनेगा।
आधी रात को विसर्जन की मांग को लेकर धरना देते समय लाठीचार्ज में घायल हुए द्वारका-शारदा, ज्योतिष पीठ के शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती के उत्तराधिकारी स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद ने सोमवार को इसे काशी के मान-सम्मान का मसला बताया।
उन्होंने शहर दक्षिणी और कैंट से उम्मीदवार उतारने की घोषणा की। दोनों उम्मीदवारों के नाम नामांकन के बाद घोषित किए जाएंगे।
पत्रकारों से बातचीत में स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद ने कहा कि संतों-बटुकों पर लाठीचार्ज पूरे सनातन धर्म को अपमानित करने वाला है।

सनातनधर्मियों के इस संघर्ष में कोई राजनीतिक दल न तो आगे आया न ही इसका समाधान कराने की जरूरत समझी।
उन्होंने स्वामी करपात्री जी महाराज द्वारा गठित रामराज्य परिषद का भी जिक्र किया। कहा कि मूल्यों की रक्षा के लिए ही धर्म सम्राट ने भी राजनीतिक दल का गठन किया था।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया