नक्सली मुठभेड़ में एसटीएफ के अधिकारी समेत दो पुलिसकर्मी शहीद

Updated on: 20 July, 2019 03:05 AM

रायपुर

छत्तीसगढ़ के कोंडागांव जिले में पुलिस और नक्सलियों के बीच हुई मुठभेड़ में एसटीएफ के अधिकारी समेत दो पुलिसकर्मी शहीद हो गए हैं। वहीं पुलिस ने इस मुठभेड़ में कई नक्सलियों के भी हताहत होने का दावा किया है।

राज्य के नक्सल मामलों के विशेष पुलिस महानिदेशक डीएम अवस्थी ने बताया कि कोंडागांव जिले के मर्दापाल थाना क्षेत्र में पुलिस और नक्सलियों के बीच हुई मुठभेड़ में एसटीएफ के असिस्टेंट प्लाटून कमांडर कृष्णा किंडो और जवान जितेंद्र द्विवेदी शहीद हो गए हैं। अवस्थी ने बताया कि बीती रात बस्तर जिले और कोंडागांव जिले से एसटीएफ और जिला बल के दो पुलिस दल को नक्सल विरोधी अभियान में रवाना किया गया था। दल जब आज मर्दापाल थाना क्षेत्र के अंतर्गत रानापाल गांव से लगभग 20 किलोमीटर की दूरी पर तुमड़ीवाल के जंगल में था तब नक्सलियों ने पुलिस दल पर गोलीबारी शुरू कर दी। इस घटना में असिस्टेंट प्लाटून कमांडर और जवान शहीद हो गए।

पुलिस अधिकारी ने बताया कि नक्सली गोलीबारी के बाद पुलिस दल ने भी जवाबी कार्रवाई शुरु की। दोनों शहीद पुलिसकर्मी को जंगल से बाहर निकालने की कोशिश की गई तब नक्सलियों ने पुलिस दल पर लगातार गोलीबारी की, जिसका जवाब सुरक्षा बल के जवानों ने दिया। अवस्थी ने बताया कि घटनास्थल धुर नक्सल प्रभावित अबूझमाड़ क्षेत्र में है। घटना की जानकारी मिलने के बाद क्षेत्र में अतिरिक्त पुलिस दल रवाना किया गया और नक्सलियों की खोज शुरु की गई।

बस्तर क्षेत्र के प्रभारी पुलिस महानिरीक्षक सुंदरराज पी ने बताया कि पुलिस दल के जवानों ने घटनास्थल पर भारी मात्रा में खून के धब्बे देखे हैं तथा नक्सलियों को गिरते देखा है। माना जा रहा है कि इस घटना में कई नक्सली भी हताहत हुए हैं, जिन्हें उनके साथी अपने साथ ले गए हैं। सुंदरराज ने बताया कि तुमड़ीवाल क्षेत्र नक्सल प्रभाव वाला क्षेत्र है तथा यहां माओवादियों के मिलिटरी कंपनी की उपस्थिति अक्सर रहती है। यह क्षेत्र बस्तर कोंड़ागांव और नारायणपुर जिले का सीमावर्ती क्षेत्र है।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया