सुब्रमण्य स्वामी ने कार्ति चिदंबरम के 21 गुप्त खातों की जानकारी सार्वजनिक की, वित्त मंत्रालय पर लगाया बड़ा आरोप

Updated on: 22 November, 2019 05:00 PM

नई दिल्ली
बीजेपी के वरिष्ठ नेता सुब्रमण्यन स्वामी का दावा है कि पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम और उनकी कंपनियों के विदेशी बैंकों में 21 खाते ऐसे हैं जिनकी जानकारी इनकम टैक्स डिपार्टमेंट को नहीं दी गई है। स्वामी ने वित्त मंत्रालय पर इस मामले में चुप्पी साधने का आरोप लगाते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सीधे हस्तक्षेप की मांग की। एक प्रेस नोट में उन्होंने वित्त मंत्रालय और इनकम टैक्स अधिकारियों पर कार्ति चिदंबरम के बारे में जानकारी दिए जाने के बावजूद कार्रवाई नहीं करने का आरोप लगाया। स्वामी जांच को सही अंजाम नहीं देने का हवाला देकर सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) पर भी बरसे।

बीजेपी नेता ने प्रेस रिलीज में कहा, 'हैरत की बात है कि कार्ति चिदंबरम और उनके नियंत्रण वाली कंपनियों के 21 अघोषित विदेशी खातों की जानकारी मुहैया कराने के बावजूद सीबीआई और ईडी कार्ति के खिलाफ कार्यवाही को सही अंजाम तक पहुंचाने में असफल रहे। तीन बार तलब करने पर भी कार्ति ईडी के सामने पेश नहीं हुए।'

स्वामी का आरोप है कि 'वित्त मंत्रालय में बैठे चिदंबरम के मित्रों' के दबाव में इनकम टैक्स डिर्पाटमेंट ने मामले में कार्रवाई नहीं की। उन्होंने कहा, 'इनकम टैक्स अधिकारियों को कार्ति चिदंबरम और भारत में उनकी पैरंट कंपनियों की ओर से इन विदेशी खातों के बारे में जानकारी नहीं दी गई। ये अकाउंट्स कई विदेशी बैंकों के हैं- मसलन, मोनको के बार्कलेज बैंक, यूके के मेट्रो और एचएसबीसी बैंक, सिंगापुर के स्टैंडर्ड चार्टर्ड और ओसीबीसी बैंक, स्विट्जरलैंड के यूबीएस बैंक आदि।'


आगे कहा गया है, 'इन सबसे ऐसा लगता है कि मुझे भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई में नजरअंदाज किए जा रहे ऐसे मामलों में हर बार प्रधानमंत्री की दखल की मांग करनी पड़ेगी। देश को पता है कि वित्त मंत्रालय के समर्थन के अभाव में नोटबंदी की शानदार पहल पूर्ण वांछित परिणाम नहीं दे सकी।'
स्वामी के इस आरोप पर कार्ति चिदंबरम ने ट्विटर पर प्रतिक्रिया दी। उन्होंने आरोपों को अपमानजनक करार देते हुए लिखा, 'मेरी फाइलिंग बिल्कुल अप टु डेट है और नियम-कानूनों पर बिल्कुल खरा उतरती है।'
उन्होंने कहा कि इनकम टैक्स फाइलिंग में उनके परिवार की और उनकी संपत्तियों का सही-सही जिक्र है। कार्ति ने ट्वीट किया, 'कानूनी जरूरतों के मुताबिक मेरी कंपनियों ने सभी घोषणाएं की हैं।'

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया