घोटाला: यूपी में कागजों में बना 455 करोड़ का दिल्ली-सहारनपुर हाईवे

Updated on: 20 August, 2019 05:02 AM

दिल्ली-सहारनपुर यमुनोत्री मार्ग पर फोर लेन का निर्माण कागज पर ही दिखाकर कंपनी ने 455 करोड़ हड़प लिए। इस मामले में शुक्रवार को एसईडब्ल्यू-एलएसवाई हाइवेज लिमिटेड के डायरेक्टर, प्रमोटर डायरेक्टर और 14 राष्ट्रीय बैंकों के चार्टड एकाउन्टेंट पर मुकदमा दर्ज किया गया है।

तय समय पर काम पूरा न होने पर जब राज्य राजमार्ग प्राधिकरण के अफसरों ने इसकी पड़ताल की तो यह खुलासा होने पर सब हैरान रह गए। इसके बाद ही परियोजना महाप्रबन्धक शिव कुमार अवधिया ने लखनऊ के विभूतिखण्ड थाने में एफआईआर दर्ज कराई। यह प्रोजेक्टर 1753 करोड़ रुपये का था।

अवधिया के मुताबिक एक अगस्त 2011 को एसईडब्ल्यू-एलएसवाई हाइवेज लिमिटेड के साथ दिल्ली-सहारनपुर से यमुनोत्री मार्ग पर बने दो लेन मार्ग को चार लेन मार्ग करने का अनुबंध किया गया था। इसे तीस मार्च 2012 को शुरू होना था। इसके लिए हैदराबाद की इस कंपनी के डायरेक्टर सुकरवा अनिल कुमार, प्रमोटर डायरेक्टर अलोरी बाबा, पीएस मूर्ति, यरलागदा वेकंटेश्वराव से अनुबंध हुआ था। अनुबंध के समय तय हुआ था कि बैंक के स्वतंत्र इंजीनियर और चार्टड एकाउन्टेंट निर्माण कार्य की जांच करके ही कर्ज स्वीकृत करेंगे। इसके बाद कंपनी ने एक अप्रैल 2012 को शुरू किया। इसके बाद वर्ष 2013 में निर्माण कार्य रोक दिया गया। यह काम बमुश्किल 13.33 प्रतिशत ही पूरा हुआ था। इस पर राज्य मार्ग प्राधिकरण ने पड़ताल किया तो खुलासा हुआ।

ऐसे किया घोटाला


दिल्ली सहारनपुर यमुनोत्री मार्ग को चार लेन करने का काम होना था। इसके लिए 1700 करोड़ रुपये का टेंडर हुआ था। इस पर करीब 148 करोड़ रुपये का ही काम पूरा किया लेकिन 603 करोड़ रुपये का भुगतान मिलीभगत से लिया।

इन 14 बैंकों के चार्टड एकाउन्टेंट भी आरोपी बने


1-स्टेट बैँक ऑफ मैसूर---हैदराबाद
2-स्टेट बैंक ऑफ पटियाला-हैदराबाद
3-यूनियन बैंक ऑफ इंडिया-मुम्बई
4-विजया बैंक-मुम्बई
5-आईसीआईसीआई बैंक-बांद्रा, मुम्बई
6-इंडिया इंफ्रा स्ट्रक्चर फाइनेंस कम्पनी-नई दिल्ली
7-इंडियन ओवरसीज बैंक-हैदराबाद
8-ओरियन्टल बैंक ऑफ कामर्स-हैदराबाद
9-पंजाब नेशनल बैंक-हैदराबाद
10-पंजाब एंड सिन्ध बैंक-सिकन्दराबाद, हैदराबाद
11-स्टेट बैंक ऑफ हैदराबाद-हैदराबाद
12-सेन्ट्रल बैंक ऑफ इंडिया-मुम्बई
13-कार्पोरेशन बैंक-हैदराबाद
14-देना बैंक-चेन्नई

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया