सेना भर्ती पेपर लीक: गिरफ्तार 21 आरोपियों में रिटायर्ड सेना अधिकारी

Updated on: 15 November, 2019 04:57 PM

मुंबई
सेना भर्ती परीक्षा प्रश्नपत्र लीक करने के आरोप में ठाणे पुलिस काफी मुस्तैदी दिखा रही है। इसके तहत अब तक 21 संदिग्धों को पुणे, नागपुर और पणजी से गिरफ्तार किया गया है। यह ऑपरेशन ठाणे पुलिस क्राइम ब्रांच की तरफ से चलाया जा रहा है। प्रश्नपत्र लीक करने का खुलासा भी ठाणे पुलिस ने ही किया था। गिरफ्तार किए गए आरोपियों में रिटायर्ड सेना अधिकारी और सीनियर अर्धसैनिक बल के अधिकारी भी शामिल हैं।

सेना और पुलिस से जुड़े सूत्रों ने बताया, आर्मी रिक्रूटमेंट बोर्ड ने इस बात की पुष्टि कर दी है कि लीक किया गया प्रश्नपत्र मूल प्रश्नपत्र से पूरी तरह से मिलता है। पुलिस ने यह भी बताया कि पेपर लीक करने की प्रक्रिया फोन पर मेसेज के जरिए किया गया था। भर्ती परीक्षा सिपाही (जनरल ड्यूटी, क्लर्क और ट्रेडमेन) के लिए होनी थी। इस नौकरी के लिए योग्यता आठवीं से 12वीं पास तक है।

पुणे से गिरफ्तार किए गए नौ लोगों में से एक सेना के खड़की केंद्र का एक लांस नायक और सतारा जिले के पलटन का सरकारी नौकरी के लिए तैयारी करवाने वाले प्राइवेट अकैडमी का डायरेक्टर भी है। पुलिस ने बताया कि बाकी लोग ड्राइवर और एजेंट्स से थे जो मुख्य संदिग्धों को इस प्रक्रिया में सहायता कर रहे थे। दूसरे नौ संदिग्ध नागपुर से गिरफ्तार किए गए हैं। इनमें से एक नागपुर के काटोल तहसील का रहने वाला है।

पुलिस ने बताया कि लीक प्रश्नपत्र का फायदा उठाने वाले 210 कैंडिडेट्स को पुणे के एक मैरिज हॉल से पकड़ा गया। सभी कैंडिडेट्स को एजेंट्स के लिए प्रश्नपत्र मिला था और वो लोग वहां लीक किए गए प्रश्नपत्र के उत्तर जानने के लिए जमा हुए थे। सवाल-जवाब के बाद उन्हें छोड़ दिया गया है। गोवा से गिरफ्तार किए गए तीन लोगों में से एक बीएसएफ जवान भी है।

जांच में जुटी टीम को शक है कि इसके पीछे किसी संगठित रैकिट का हाथ हो सकता है। इस रैकिट में ऐसे लोग शामिल हो सकते हैं जो आर्मी में नौकरी के लिए कोचिंग सेंटर चलाते हैं। जांच टीम के अनुसार कुछ भीतर के लोग भी इस गिरोह में शामिल हो सकते हैं जो परीक्षा और प्रश्नपत्र से जुड़े काम देखते हों।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया