भारत में धार्मिक आजादी पर पाबंदी, भ्रष्टाचार: अमेरिका

Updated on: 16 October, 2019 06:04 AM

वॉशिंगटन
अमेरिका ने भारत में मानवाधिकार की प्रमुख समस्याओं के रूप में विदेश से फंड लेने वाले NGO और धार्मिक आजादी पर प्रतिबंध जैसे मुद्दों की पहचान की है। साथ ही रिश्वत, घूस, भ्रष्टाचार और सुरक्षाकर्मियों की ओर से उत्पीड़न की समस्या को भी इस सूची में शामिल किया है।

ट्रंप प्रशासन की ओर से जारी की गई 2016 की सालाना कंट्री रिपोटर्स ऑन ह्यूमन राइट्स प्रैक्टिसेज में कहा गया कि पिछले साल भारत के सामने पेश आईं मानवाधिकार समस्याओं में लोगों का गायब होना, जेलों में कैदियों की बदतर स्थिति और अदालतों में कई सालों से मामले पेंडिंग होने के कारण इंसाफ मिलने में देरी होना प्रमुख है।

रिपोर्ट के अनुसार भारत में मानवाधिकारों की प्रमुख समस्याओं में पुलिस और सुरक्षाबलों की ओर से उत्पीड़न, कानून के दायरे से बाहर जाकर आरोपियों को मौत के घाट उतारना, टॉर्चर और रेप के साथ भ्रष्टाचार भी शामिल है।=

भारत में अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति के लोगों के साथ मारपीट और लिंग, धर्म, जाति के आधार पर सामाजिक हिंसा भी काफी होती है। इसके अलावा यहां बंधुआ मजदूरी और बच्चों और महिलाओं को वेश्यावृत्ति की ओर धकेलने के भी उदाहरण काफी देखे जाते हैं।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया