शहीद को नमन: कुपवाड़ा हमले में मारा गया कानपुर का लाल,पसरा मातम

Updated on: 01 April, 2020 03:55 AM


उत्तरी कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में आतंकियों ने एक सेना के कैंप पर हमला बोल दिया, जिसमें एक कैप्टन और दो सैनिक शहीद हो गए। यह एक फिदायीन हमला था। ये हमला सुबह चार बजे हुआ है। इस हमले के बाद सेना द्वारा चलाए जा रहे सर्च अभियान के दौरान कुपवाड़ा के करालपुरा में सेना के काफिले पर स्थानीय लोगों ने पत्थरबाजी की।
चकेरी क्षेत्र के डिफेंस कॉलोनी निवासी आयुष एनडीए के जरिए सेना में भर्ती हुआ था। तीन वर्ष पहले आईएमए देहरादून से ट्रेनिंग करने के बाद उसे सेना में तैनाती मिली थी। करीब एक वर्ष से आयुष कश्मीर में तैनात थे। आयुष के पिता बीएल यादव यूपी पुलिस में दरोगा हैं और चित्रकूट में तैनात हैं। घर में मां और एक छोटी बेटी है।
आयुष अपने परिवार का इकलौता बेटा था। बेटे के शहादत की सूचना मिलते ही कोहराम मच गया। डिफेंस कॉलोनी निवासी ही नहीं चकेरी क्षेत्र के सैकड़ों लोग पीड़ित परिवार को ढांढस बंधाने पहुंच गए।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया