मिसाइल टेस्टः तानाशाह किम की हरकतों पर बोले ट्रंप- नहीं रखा चीन का मान

Updated on: 25 August, 2019 12:07 AM

लगातार मिसाइल परीक्षण करके कड़े अमेरिकी प्रतिबंध के खतरों का सामना कर रहे उत्तर कोरिया ने आज फिर मिसाइल परीक्षण किया, जो असफल रहा। इस पर अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि उत्तर कोरिया ने फिर से मिसाइल परीक्षण करके चीन की इच्छाओं का अनादर किया है।
पेंटागन ने प्योंगयांग के इस प्रयास को असफल करार दिया है। उत्तर कोरिया के असफल मिसाइल परीक्षण के बाद ट्रंप ने शुक्रवार रात ट्वीट किया, उत्तर कोरिया ने आज मिसाइल परीक्षण किया, हालांकि वह परीक्षण असफल रहा। चीन की इच्छाओं एवं उनके बेहद सम्माननीय राष्ट्रपति का अनादर किया है। बुरा है।
उत्तर कोरिया ने यह मिसाइल परीक्षण ट्रंप प्रशासन के चीन और उनके राष्ट्रपति शी जिनपिंग की सराहना करने के एक दिन बाद किया है। ट्रंप प्रशासन ने प्योंगयांग को और मिसाइल अथवा परमाणु परीक्षण न करने के लिए सहमति बनाने के वास्ते उनकी सराहना की थी।
अमेरिका ने यह भी जानकारी दी थी कि चीन ने उत्तर कोरियाई तानाशाह किम जोंग उन को चेतावनी दी है कि अगर उसने परमाणु परीक्षण किया तो उस पर प्रतिबंध लगा दिया जाएगा।
पीएसीओएम के प्रवक्ता डेव बेनहम ने एक बयान में बताया, यूएस पैसेफिक कमांड ने इसका पता लगाया और हमारा अनुमान है कि उत्तर कोरिया ने 28 अप्रैल को हवाई समयानुसार सुबह 10 बजकर 33 मिनट पर मिसाइल परीक्षण किया था। बैलिस्टिक मिसाइल परीक्षण पुक्चांग एयरफील्ड के पास किया गया।
बेहनम ने कहा, मिसाइल उत्तर कोरियाई क्षेत्र से बाहर नहीं आ सकी। उन्होंने कहा कि नॉर्थ अमेरिकन एयारोस्पेस डिफेंस कमांड (एनओआरएडी) इस पर दृढ़ है कि उत्तर कोरियाई मिसाइल प्रक्षेपण से उत्तरी अमेरिका को कोई खतरा नहीं है।
बेनहम ने कहा, यूएस पैसेफिक कमान कोरियाई गणराज्य एवं जापान में अपने सहयोगियों की सुरक्षा के के लिए प्रतिबद्धता से खड़ा है।
रिपोर्ट के अनुसार, मिसाइल संभवत: मध्यम दूरी की केएन—17 बैलिस्टिक मिसाइल थी।
जापान ने की उत्तर कोरिया की निंदा
जापान ने उत्तर कोरिया की ओर से किए गए मिसाइल परीक्षण की निंदा की है। जापान ने उत्तर कोरिया के मिसाइल परीक्षण को बिल्कुल अस्वीकार्य करार देते हुए इसे संयुक्त राष्ट्र के प्रस्तावों का उल्लंघन बताया है।
जापान की सरकार के प्रवक्ता योशीहिदे सुगा ने कहा कि वह इस मामले को लेकर प्रधानमंत्री शिंजो आबे के संपर्क में बने हुए हैं। आबे इस समय यूरोप की यात्रा पर हैं। सुगा ने कहा कि अधिकारी मिसाइल परीक्षण के बारे में जानकारी जुटाने का प्रयास कर रहे हैं।       
नहीं मान रहा उत्तर कोरियाः फिर किया मिसाइल परीक्षण, अमेरिका बोला- नाकाम रहा
सनकी तानाशाह पर लगाम के लिए लग सकता है प्रतिबंध
उत्तर कोरिया के हालिया असफल मिसाइल परीक्षण के चलते अमेरिका उसके खिलाफ नए आर्थिक प्रतिबंधों की घोषणा कर सकता है। एक अमेरिकी अधिकारी ने यह जानकारी दी है। इस अधिकारी ने नाम गुप्त रखने की शर्त पर बताया कि कल उत्तर कोरिया ने अमेरिका और चीन के आग्रह को दरकिनार करते हुए अपना मिसाइल परीक्षण किया। अमेरिका इससे काफी सकते में है और अब उत्तर कोरिया के खिलाफ नए आर्थिक प्रतिबंधों की घोषणा की जा सकती है।
अधिकारी के मुताबिक अब यह संभव है कि कुछ भी कार्रवाई की जा सकती है और उसके खिलाफ सीमित प्रतिबंधों का निर्णय लिया जा सकता है। उन्होंने बताया कि यह मिसाइल परीक्षण एक तरह से भड़काऊ कार्रवाई है और नौ मई को होने वाले उत्तर कोरियाई राष्ट्रपति चुनाव से पहले इसका अनुमान लगाया जा चुका था।
कुछ अधिकारियों का मानना है कि ट्रंप प्रशासन उत्तर कोरिया के परमाणु सामग्री ले जाने में सक्षम प्रक्षेप्रास्त्र के परीक्षण को लेकर भी चिंतित है क्योंकि इसकी मारक क्षमता में अमेरिका आ जाएगा। अमेरिका अब उसके छठे परमाणु परीक्षण पर नजदीकी से नजर रख रहा है।
गौरतलब है कि कल अमेरिकी विदेश मंत्री रैक्स टिलेरसन ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में चेतावनी भरे लहजे में कहा था कि अगर उत्तर कोरिया के परमाणु और बैलिस्टिक कार्यक्रम पर रोक नही लगाई गई तो इसके बहुत ही गंभीर परिणाम होंगे।
अधिकारी ने बताया कि इन आर्थिक प्रतिबंधों की घोषणा अगलें कुछ दिनों में की जा सकती है।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया