तेज रफ़्तार टाटा सफारी पेड़ से टकराने के बाद पलटी, तीन की मौत

Updated on: 17 October, 2019 02:16 PM

घटनास्थल पर जुटी ग्रामीणों की भीड़

बलिया जिले के  बेरूवारबारी सुखपुरा मार्ग पर सोमवार दोपहर रफ्तार का कहर देखने को मिला। शाम चार बजे के करीब बासपली के पास सुखपुरा के तरफ से आ रही तेज रफ्तार टाटा सफारी अनियंत्रित  होकर पेड़ से टकराने के बाद पलट गई। टाटा सफारी ने कई पलटन खाए।

घटना में तीन लोगों की मौत मौके पर हो गई जबकि दो लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। दोनों को जिला अस्पताल से रेफर कर दिया गया है।

बताया जाता है कि शाम को सफारी गाड़ी से बांसडीह क्षेत्र के राजा गांव निवासी रोहित पांडेय (25), सुखपुरा थाना क्षेत्र के पिपरौली निवासी प्रवीण सिंह (30), बलिया कोतवाली क्षेत्र के रामपुर उदयभान गांव निवासी संजय यादव (45),  सुखपुरा थाना क्षेत्र के खरीदपुर पचखोरा निवासी अतुल सिंह (24) और भीमपुरा थाना क्षेत्र के जजौली निवासी लक्ष्मी सिंह (17) सुखपुरा की तरफ से बेरुवारबारी की ओर से आ रहे थे।

शाम करीब चार बजे बासपली के पास अंसतुलित होकर पहले पेड़ से जा टकराई और पलट गई। पेड़ से टकराने के बाद हुई आवाज को सुनकर आसपास के लोग दौड़कर मौके पहुंचे। पलटी हुई सफारी से लोगों ने घायलों को बाहर निकाला।

आलम यह रहा कि मौके पर ही तीन लोग दम तोड़ चुके थे, जबकि अन्य दो लोग जिंदा थे। इसी बीच सूचना पर पहुंची पुलिस ने सभी घायलों को तुंरत बेरुवारबारी अस्पताल पर पहुंचाया जहां चिकित्सकों ने प्राथमिक उपचार के बाद जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया।

हालांकि कुछ देर बाद जिला अस्पताल के चिकित्सकों ने भी घायलों को वाराणसी के लिए रेफर कर दिया। पुलिस ने मृतकों के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। घटना की सूचना मिलते ही अस्पताल में भारी संख्या में लोगों की भीड़ जुट गई।

मृतकों में रोहित पांडेय (25) निवासी बांसडीह थाना क्षेत्र के राजा गांव, प्रवीण सिंह (30) निवासी सुखपुरा थाना क्षेत्र के पिपरौली, संजय यादव (45) बलिया कोतवाली क्षेत्र के रामपुर उदयभान गांव शामिल है।
इसके अलावा घायलों में अतुल सिंह (24) निवासी सुखपुरा थाना क्षेत्र के खरीदपुर पचखोरा और लक्ष्मी सिंह (17) भीमपुरा थाना क्षेत्र के जजौली निवासी हैं।

सुखपुरा-बेरुवारबारी मार्ग पर मिड्ढा के पास बासपली के पास हुए हादसे को लोग सफारी की तेज रफ्तार को ही कारण बता रहे हैं। आसपास खेतों में काम करने वाले लोगों की मानें तो गाड़ी काफी तेज गति से चल रही थी। बताया कि इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि पेड़ से टकराने के बाद काफी तेज आवाज हुई।
लोगों ने बताया कि तेज रफ्तार से सफारी पेड़ से टकराई और इसके बाद पलट गई। बताया कि सामान्य रफ्तार होती होती तो गाड़ी पेड़ से टकराने के बाद रुक जाती।  पेड़ से गाड़ी के टकराने के कारण ही लोगों की जान भी गई है।
ग्रामीणों ने बताया कि जिस समय हादसा हुआ गाड़ी के सामने न तो कोई वाहन था और न ही किसी वाहन को वह ओवरटेक ही कर रहा था।
लोगों ने कयास लगाया कि तेज रफ्तार के चलते अचानक चालक का नियंत्रण खोने से ही इतना बड़ा हादसा हुआ है। दुर्घटना के बाद स्थानीय ग्रामीणों ने तत्परता दिखाई और घायलों को गाड़ी से बाहर निकाला। 

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया