आप में रार: CM केजरीवाल के घर PAC की बैठक, कुमार भी हो सकते हैं शामिल

Updated on: 18 November, 2019 02:45 AM

इन दिनों आम आदमी पार्टी में कुछ भी ठीक नहीं चल रहा है। पंजाब और गोवा विधानसभा चुनाव में हार के बाद दिल्ली नगर निगम चुनाव में मिली हार से पार्टी को तगड़ा झटका लगा है। अब तो हालत ये हो गई है कि पार्टी के भीतर भी अंतर-कलह तेज हो गए हैं। आज सुबह मनीष सिसोदिया सीएम अरविंद केजरीवाल के पास पहुंचे। बताया जा रहा है कि 11 बजे सीएम आवास पर पीएसी की बैठक होनी है। इस बैठक में कुमार विश्वास भी शामिल हो सकते हैं। 
वहीं इससे पहले मंगलवार देर रात केजरीवाल के घर कुमार विश्वास की मौजूदगी में आप नेताओं की बैठक हुई। करीब एक घंटे चली गुप्त बैठक के बाद कुमार विश्वास मीडिया से बिना बात किए ही अपने घर की ओर रवाना हो गए।
केजरीवाल के घर हुई इस बैठक में कुमार विश्वास के अलावा मनीष सिसोदिया, संजय सिंह, आशुतोष शामिल थे। जबकि थोड़ी देर बाद आप मंत्री कपिल मिश्रा भी बैठक में शामिल हुए थे। कपिल मिश्रा पार्टी में कुमार विश्वास के करीबी माने जाते हैं।
विश्वास के घर पहंचे थे केजरीवाल
इससे पहले विश्वास को मनाने के लिए सीएम अरविंद केजरीवाल, डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया, संजय सिंह उनके घर पहुंचे थे। मीटिंग के बाद चारों नेता एक साथ बाहर निकले और एक ही गाड़ी में बैठ कर चले गए।
पहले संजय सिंह और आशुतोष  कुमार के घर गए। कपिल मिश्रा भी उनके घर पहुंचे। उसके बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया कुमार के घर पहुंचें। वहां पर दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कुमार विश्वास हमारे साथी हैं और हम उन्हें मनाने आए हैं। एक मिनट के अंदर ही अरविंद केजरीवाल और मनीष सिसोदिया कुमार के घर से बाहर निकल आए। उनके साथ संजय सिंह और कुमार विश्वास भी थे। चारों नेता एक ही गाड़ी में सवार होकर यहां से निकल गए।
इससे पहले आम आदमी पार्टी (आप) के संस्थापक सदस्य कुमार विश्वास और पार्टी के दूसरे नेताओं के बीच तकरार लगातार बढ़ती जा रही है और इस बीच विश्वास के पार्टीटी छोड़ने के संकेत मिल रहे हैं। विधायक अमानतुल्ला खान के आरोपों से बुरी तरह आहत विश्वास ने कहा है कि उनके खिलाफ कोई बड़ी साजिश रची जा रही है। दूसरी ओर आप के वरिष्ठ नेता और दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने विश्वास से अपील की है कि वह टेलीविजन चैनलों पर बयानबाजी करने की बजाय पार्टी के मंच पर अपनी बात रखें।
गाजियाबाद में मंगलवार को अपने आवास पर प्रेस कॉन्फ्रेंस से बातचीत में विश्वास ने कहा कि खान का उन्हें भाजपा और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का एजेंट बताया जाना बेहद आपत्तिजनक है। दरअसल यह अमानतुल्ला नहीं कह रहे बल्कि उनसे ऐसा कहलवाया जा रहा है, वह तो सिर्फ मुखौटा हैं। किसी ने यदि ऐसा मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल या उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के खिलाफ कहा होता तो उसे अब तक पार्टी से निकाल दिया जाता।
विश्वास ने कहा कि उनके जिस वीडियो 'वी द नेशन' को लेकर सवाल उठाए जा रहें हैं, उसके लिए वह किसी से माफी नहीं मांगेंगे। उन्होंने कहा कि देश और सैनिकों का मसला होगा तो वह जरूर बोलेंगे। उन्होंने कहा कि पार्टी नेताओं को ऐसा कुछ नहीं करना चाहिए जिससे कि मेहनत करने वाले कार्यकतार् उपेक्षित महसूस करें।
इस बीच सिसोदिया ने संवाददाताओं से कहा कि विश्वास पार्टी मंच पर अपनी बात रखने की बजाए टीवी पर बयानबाजी कर रहे हैं जिससे कार्यकर्ताओं का मनोबल टूट रहा है लेकिन कार्यकर्ता यह जानते हैं कि ऐसे बयानों से किन पार्टियों को फायदा हो रहा है।
उन्होंने कहा, 'केजरीवाल ने विश्वास से तीन-तीन घंटे तक बात की। मैं खुद भी उनसे मिलने गया था लेकिन वह टीवी पर बयानबाजी करने में लगे हैं जिससे कोई हल नहीं निकलने वाला।' गोवा और पंजाब विधानसभा तथा दिल्ली नगर निगम के चुनावों में मिली करारी शिकस्त से आप में असंतोष बढ़ता जा रहा है।
 
कुमार विश्वास ने किया ये ट्वीट
माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर कुमार विश्वास ने आम आदमी पार्टी में चल रही रार पर ट्वीट किया। उन्होंने लिखा कि सॉरी बॉस, पुराने पैंतरे नहीं चलेंगे। बताते चलें कि हाल ही में दिल्ली मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कुमार विश्वास को छोटा भाई बताते हुए ट्वीट किया था।
पीएसी से इस्तीफा दे चुके हैं अमानातुल्ला
आम आदमी पार्टी नेता और दिल्ली के ओखला से विधायक अमानतुल्ला खां ने सोमवार को पीएसी से इस्तीफा दे दिया है। इसके साथ ही उन्होंने बयान दिया था कि वे कुमार विश्वास पर दिए बयान पर कायम हैं। बता दें कि अमानतुल्ला ने कुमार विश्वास के खिलाफ बयानबाजी की थी। उन्होंने कहा था कि कुमार आरएसएस और बीजेपी के लिए काम कर रहे हैँ।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया