अन्नपूर्णा भोजनालय: अब यूपी में भी हर गरीब को मिलेगा भरपेट खाना

Updated on: 20 October, 2019 12:38 PM

धनबाद (झारखंड) में पूर्व डिप्टी मेयर व कांग्रेस नेता नीरज सिंह समेत चार लोगों की हत्या के मामले में यूपी एसटीएफ की वाराणसी इकाई की टीम ने मुख्य शूटर अमन सिंह और उसके साथी अभिनव सिंह उर्फ बट्टूको मिर्जापुर जेल के पास से गिरफ्तार कर लिया। अमन अम्बेडकर नगर के राजे सुल्तानुपर थाना क्षेत्र के जगदीशपुर कादीपुर का और अभिनव फैजाबाद के महाराजगंज क्षेत्र के कादीपुर का निवासी है। एसटीएफ ने इनके पास से .32 बोर की पिस्टल, कारतूस, बाइक, 15 सौ रुपये, मोबाइल व सिमकार्ड बरामद किया है।

पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली थी कि अमन और अभिनव बाइक से जेल में बंद शातिर अपराधी रिंकू सिंह से मिलने आनेवाले हैं। इसके बाद इंस्पेक्टर अमित श्रीवास्तव समेत टीम के लोगों ने जेल के आसपास घेरेबंदी कर ली। कुछ देर बाद जैसे ही दोनों आये उन्हें गिरफ्तारा कर लिया गया। पूछताछ में अमन ने बताया कि घटना में उसके चार साथी शामिल थे। वारदात से पहले उन्हें 9 एमए पिस्टल व दो-दो मैगजीन दी गयी थी। बताया गया था कि शाम को नीरज सिंह फार्चूनर गाड़ी से लौटेगा। उसी समय उसका काम तमाम कर देना है। घटना को अंजाम देने के लिए पहले से ही स्पीड ब्रेकर ऊंचा बनवा दिया गया था।

सभी को अंधाधुंध फायरिंग के निर्देश दिये गये थे। ताकि किसी हाल में नीरज सिंह बच पाए। योजना के तहत व तीन साथियों के साथ नियत स्थान पर पहुंचा। जैसे ही नीरज सिंह आया फायरिंग कर दी गयी। इस घटना में नीरज समेत चार लोग मारे गये लेकिन एक व्यक्ति बच गया। घटना के बाद चारो बाइक से एनएच-2 पर पहुंचे। वहीं बाइकें छोड़कर बस से आसनसोल चले गये। वहां पंकज सिंह से उनकी मुलाकात हुई। उसने घटना में प्रयुक्त असलहे सबके पास से ले लिए। इसके बाद चारो बक्सर से बलिया पहुंच गये। नीरज की हत्या के लिए उसे 50 लाख रुपये मिले थे। 

दो और हत्याओं का देना था अंजाम

शूटर अमन सिंह ने बताया कि मिर्जापुर जेल में बंद रिंकू सिंह ने उसे मिलने के लिए बुलाया था। कहा था कि जेल आ जाना वहां बंदी रक्षक सुनील तिवारी मिलेगा जो बिना किसी परेशानी के हमसे मिलवा देगा। रिंकू ने इलाहाबाद और मध्यप्रदेश में दो व्यक्तियों की हत्या की सुपारी देने की बात कही थी। पांच लाख रुपये एडवांस देने का भरोसा दिलाया था।

अमन ने बताया कि वाराणसी निवासी उसका साथी बृजेश सिंह आयोध्या के उदासीन अखाड़ा में रहता है। बृजेश ने अपने विरोधी की हत्या कराने के लिए कुछ दिन पहले उसे अयोध्या बुलाया था। वह अभिनव के साथ अयोध्या गया। दो-तीन दिन रहा लेकिन जिसकी हत्या करनी थी वह सही जगह नहीं मिला। अमन सिंह 13 फरवरी 2016 को सुल्तानपुर में पत्रकार करुण मिश्रा की हत्या का मुख्य आरोपित रहा है। उस समय भी उसे एसटीएफ ने गिरफ्तार किया था। अभिनव सिंह भी फैजाबाद में बैंक की कैश वैन लूटने में शामिल था। अमन और अभिनव रिश्तेदार है।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया