मोदी@3: योगी बोले, 3 साल में गरीबों के लिए UP में बनेंगे 27 लाख आवास

Updated on: 26 June, 2019 06:26 AM

आज मोदी सरकार ने तीन साल पूरे कर लिए हैं। इस अवसर पर भाजपा जगह-जगह कार्यक्रम कर रही है। यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने भी मोदी के नाम के कसीदे पढ़े और गोरखपुर की जनता को संबोधित किया। उन्होंने कहा, पहली बार ऐसा लगा कि देश में जनता की सरकार आई है। पीएम मोदी को बधाई देते हुए कहा कि तीन साल का कार्यकाल सफल रहा।

उन्होंने कहा, केंद्र और राज्य मिलकर यूपी के विकास के लिए काम किया है। 2022 तक देश में एक भी गरीब नहीं बचेगा। मोदी की कई परियोजनाओं की तारीफ करते हुए उन्होंने कहा, कोई भी सरकार गरीबों के लिए इतनी योजना लेकर नहीं आई है। योगी ने कहा कि बीजेपी के मंत्रियों पर भ्रष्टाचार का किसी तरह का आरोप नहीं लगा हैं। उन्होंने कहा कि सरकार अनुसूचित जातियों के विकास के लिए काम किया ह

उत्तर प्रदेश में अगले तीन साल में गरीबों के लिए 27 लाख आवास बनेंगे। पांच लाख आवासों की श्रंख्ला इसी महीने शुरू होगी। केन्द्र सरकार का लक्ष्य 2022 तक देश के हर गरीब के सिर पर छत देने का है। शहर हो या गांव सरकार सबको नि:शुल्क या सस्ते दर पर आवास उपलब्ध कराएगी। यह एलान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को एमपी इंटर कालेज के मैदान से किया। वह केन्द्र में भाजपा सरकार के तीन साल पूरे होने पर आयोजित जनसभा को सम्बोधित कर रहे थे।

34 मिनट के अपने भाषण में केन्द्र सरकार की तीन साल की उपलब्धियों का सिलसिलेवार ढंग से ब्यौरा देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एक वैश्विक नेता के रूप में भारत को अभूतपूर्व उपलब्धियों की ओर ले जा रहे हैं। इन तीन वर्षों में भारत न केवल वैश्विक क्षितिज पर दमदार स्थिति में आया है बल्कि सामरिक और आर्थिक ताकत बनकर भी उभरा है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व
में पहली बार लगा है कि देश में जनता की सरकार है।

सरकार के लोककल्याणकारी कार्यक्रम किसी जाति, मत, मजहब को ध्यान में रखकर नहीं बल्कि गांव, गरीब, किसान, मजदूरों और महिलाओं को ध्यान में रखकर बिना किसी भेदभाव के बनाए जा रहे हैं। सरकार ने सबका साथ, सबका विकास को सकार करके दिखाया है। तीन वर्षों के कार्यकाल में विरोधियों को भी ऊंगली उठाने का मौका नहीं मिला। कोई कमी नहीं मिली। आज देश के 25-30 करोड़ गरीब लोगों के पास अपने जनधन खाते हैं।

उन्हें पांच हजार की क्रेडिट, दो लाख का बीमा मिल गया। प्रधानमंत्री उज्जवला योजना, डिजिटल इंडिया, स्टार्टअप, स्टैण्ड अप, मृदा परीक्षण, मुद्रा बैंक, जीवन ज्योति सुरक्षा जैसी योजनाओं का उल्लेख करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि केन्द्र सरकार की योजनाएं गरीबों, रेहड़ी, खोमचा वालों तक की चिंता करने वाली हैं। निर्मल गंगा को प्रधानमंत्री का सपना बताते हुए उन्होंने वादा किया कि 2019 में लगने वाले प्रयाग महाकुंभ के दौरान लोगों को निर्मल गंगा का स्वरूप दिखाई देगा। उन्होंने कहा कि बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ योजना ने लिंग अनुपात को ठीक करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

स्वच्छ भारत अभियान को पूर्वी उत्तर प्रदेश में मासूमों पर कहर बरपा रही इंसेफेलाइटिस के लिए रामवाण बताया। उन्होंने कहा कि शुद्ध पानी और साफ-सफाई से ही इस बीमारी को काबू में किया जा सकता है। मुख्यमंत्री ने गांव-गांव विद्युतीकरण का दावा करते हुए कार्यकर्ताओं से गरीब परिवारों को मुफ्त में कनेक्शन दिलाने का आह्वान किया। उन्होंने 500 की आबादी वाले गांवों को सम्पर्क मार्ग से जोड़ने की योजना का उल्लेख करते हुए कहा कि प्रदेश में 250 की आबादी वाले गांवों को भी पक्के मार्ग से जोड़ा जाएगा।

उन्होंने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, प्रधानमंत्री सिंचाई परियोजना, वन रैंक वन पेंशन, गजटेड अधिकारी से सर्टिफिकेट प्रमाणित कराने की अनिवार्यता समाप्त करने, कौशल विकास, उड़ान योजना, हृदय रोगियों के लिए स्टंट की कीमत सवा-डेढ़ लाख से 25-30 हजार करा देने और देश भर में एक हजार जनऔषधीय केन्द्र खोले जाने सहित कई योजनाओं का उल्लेख किया। इसके साथ ही गोरखपुर में खाद कारखाना के शिलान्यास, बीआरडी मेडिकल कालेज में आठ सुपरस्पेशिलिटी हास्पिटल, एम्स, गैस पाइप लाइन, पीएनजी सहित अमृत योजना के तहत पेयजल और सीवरेज के काम का उल्लेख करते हुए कहा कि पूर्वी उत्तर प्रदेश विकास की नई राह पर दौड़ रहा है।

उत्तर प्रदेश के 61 शहरों को अमृत योजना और 13 महानगरों को स्मार्ट सिटी के तहत लेने के लिए उन्होंने केन्द्र सरकार के प्रति आभार प्रकट किया। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार की मदद से प्रदेश के हर जिले को दो लाइफ सपोर्टिंग एम्बुलेंस उपलब्ध कराई गई हैं। आगे इनकी संख्या और बढ़ाई जाएगी। उन्होंने पूर्ववर्ती सरकार पर इस योजना को शुरू न करने का आरोप भी लगाया। मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार प्रदेश के सभी जिलों में समान रूप से 24 घंटे बिजली उपलब्ध कराएगी। इसके लिए सबसे सहयोग अपेक्षित है।

उन्होंने कहा कि सरकार ज्यादातर गन्ना मूल्य का भुगतान करवा चुकी है। बाकी रह गए मूल्य का भी जल्द ही भुगतान हो जाएगा। मिशन-2019 और निकाय चुनाव के लिए जुटने का आह्वान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पार्टी कार्यकर्ताओं से मिशन-2019 और निकाय चुनाव की तैयारी में जुटने का आह्वान किया। इस मौके पर उन्होंने ‘सबका साथ-सबका विकास शीर्षक से एक प्रदर्शनी का उद्घाटन भी किया। इस प्रदर्शनी में पंडित दीनदयाल उपाध्याय के जीवन और दर्शन से जुड़े विभिन्न पहलुओं को चित्रों के माध्यम से दर्शाने की कोशिश की गई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि 14 जून तक कार्यक्रम चलेंगे। इनके जरिए बूथ स्तर तक जाना है।

लोगों को केन्द्र सरकार के सभी कार्यक्रमों की जानकारी हो जाए तो तमाम समस्याओं का हल हो जाएगा। पंडित दीनदयाल उपाध्याय ‘अंत्योदय यानि समाज के सबसे आखिरी व्यक्ति के जीवन में खुशहाली लाना चाहते थे। केन्द्र सरकार उन्हीं के दिखाए रास्ते पर चल रही है। बिना भेदभाव के भ्रष्टाचारमुक्त, अपराधमुक्त, स्वच्छ शासन-प्रशासन चलाना हमारा लक्ष्य है। मिशन-2019 भारत को महाशक्ति बनाने का महत्वपूर्ण अवसर है।

उन्होंने कहा कि कार्यक्रमों के लिए कमेटियां गठित की गई हैं। ये कमेटियां केन्द्र और प्रदेश सरकार की नीतियों को निचले स्तर पर ले जाएंगी। इन महत्वपूर्ण नेताओं ने भी गिनाईं केंद्र की उपलब्धियां राज्यसभा सांसद शिवप्रताप शुक्ल, सांसद कमलेश पासवान, एमएलसी देवेन्द्र प्रताप सिंह, पूर्व एमएलसी विनोद पांडेय, नगर विधायक डा.राधा मोहन दास अग्रवाल, विधायक विपिन सिंह, संत प्रसाद, शीतल पांडेय, फतेह बहादुर सिंह, महेन्द्र सिंह, महापौर डा.सत्या पांडेय, क्षेत्रीय अध्यक्ष उपेन्द्र शुक्ल, प्रदेश मंत्री कामेश्वर सिंह, जिलाध्यक्ष जनार्दन तिवारी, महानगर अध्यक्ष राहुल श्रीवास्तव।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया