योगी ने काशी विश्वनाथ मंदिर में टेका मत्था, विकास योजनाओं की परखी हकीकत

Updated on: 07 December, 2019 01:11 PM

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को बनारस में चल रही विकास योजनाओं की जमीनी सच्चाई जानी। करीब चार घंटे तक काशी की सड़कों पर रहे और निर्माणाधीन परियोजनाओं का स्थलीय निरीक्षण किया। मंडलीय अस्पताल में मरीजों से स्वास्थ्य सुविधाओं की जानकारी ली। पीएम मोदी के संसदीय जनसंपर्क कार्यालय में जनसुनवाई की। बनारस के पौराणिक कुंड-तालाबों को देखा और उनके संरक्षण व सौंदर्यीकरण के निर्देश दिए। इसके पूर्व उन्होंने काशी विश्वनाथ एवं कॉलभैरव मंदिर मंे मत्था टेककर प्रदेश की खुशहाली के लिए आर्शीवाद मांगा। गंगा की स्वच्छता के लिए ग्राम प्रधानों से सहयोग की अपील की। अधिकारियों से कहा कि पीएम का संसदीय क्षेत्र है लिहाजा विकास कार्यो मंे किसी प्रकार की लापरवाही बर्दास्त नहीं की जाएगी। सभी कार्य जल्द से जल्द पूरा करें, जिससे कि जनता को इसका लाभ मिल सके। उन्होंने सामनेघाट पर गंगानदी पर निर्माणाधीन पुल एवं मंडुवाडीह ओवरब्रिज के निर्माण कार्य को हर हाल में 30 जून तक पूरा करने की हिदायत दी। बनारस दौरे के दूसरे दिन मुख्यमंत्री सुबह साढ़े छह बजे काशी विश्वनाथ मंदिर पहुंचे। मंदिर न्यास परिषद के अध्यक्ष आचार्य पं. अशोक द्विवेदी के नेतृत्व अर्चकों ने रूद्राभिषेक व दुग्धाभिषेक कराया। करीब 40 मिनट तक मंदिर परिसर मंे रहे मुख्यमंत्री ने मंदिर के विस्तारीकरण के बाबत अफसरों से जानकारी ली। बाद में ज्ञानवापी कूप को देखा और उसकी पौराणिकता एवं ऐतिहासिकता को जाना। कूप के जल को भी ग्रहण किया। अन्नपूर्णामंदिर के महंत रामेश्वरपूरी से मुलाकात की। वहां से मुख्यमंत्री कॉलभैरव मंदिर पहुंचकर दर्शन-पूजन एवं आरती की। मंडलीय अस्पताल का किया निरीक्षण काशी विश्वनाथ-काल भैरव मंदिर में दर्शन-पूजन के बाद मुख्यमंत्री सीधे मंडलीय अस्पताल कबीरचौरा पहुंचे। उन्होंने अस्पताल की इमरजेंसी सेवाओं को देखा। भर्ती मरीजों से बात की और पूछा कि दवाएं मिलती हैं या नही। मुख्यमंत्री के आगमन पर अस्पताल की सफाई व्यवस्था काफी अच्छी दिखी। रास्ते में मैनहोल का ढक्कन खुला देख ठीक कराने को कहा। सीएमओ से दवाओं की समुचित व्यवस्था सुनिश्चित कराने एवं स्वच्छता पर विशेष ध्यान देने का निर्देश दिया। विकास योजनाओं की परखी हकीकत मुख्यमंत्री ने बनारस में निर्माणाधीन मंडुवाडीह, चौकाघाट एवं सामनेघाट पुल की जमीनी हकीकत परखी। चौकाघाट फ्लाईओवर के निर्माण मंे हो रही देरी का कारण व डिजाइन को देखा। मंडुवाडीह में निर्माण के दौरान दोनों ओर के एप्रोच मार्ग को ठीक कराने एवं व्यू कटर लगाने का निर्देश दिया। जिससे कि आवागमन में दिक्कत न आए। सामनेघाट स्थित गंगा पर बन रहे पुल के निर्माण को देख सेतु निगम के अफसरों से कहा कि तीन शिफ्ट मंे काम कराएं। मजदूर बढ़ाएं और आधुनिक मशीनें लगाएं। पुल 30 जून तक हर हाल मंे बन जाना चाहिए। कुंड व तालाब को संरक्षित करें बनारस के पौराणिक कुंड-तालाब का भी मुख्मयंत्री ने निरीक्षण किया। कहा कि काशी की पहचान कुंड-तालाब से है। लिहाजा ऐसे कुंडों-सरोवरों एवं तालाबों का सरंक्षण एवं सौदर्यीकरण हो। जिससे कि आसपास के लोग कुछ पल ऐसे स्थलों पर आकर गुजार सकें। मुख्यमंत्री ने दुर्गाकुंड व शंकुलधारा पोखरे का जायजा लिया। नगर आयुक्त से एक माह के अंदर सौंदयार्ीकरण पूरा करने केा कहा।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया