अंतिम संस्कार: पर्वतारोही रवि को नम आंखों से विदाई देने उमड़े लोग

Updated on: 25 August, 2019 01:14 PM

एवरेस्ट पर भारतीय ध्वज फहराकर वापस लौटते समय एवरेस्ट की बॉलकनी इलाके में हुए हादसे में अपनी जान गंवाने वाले पर्वतारोही रवि कुमार का आज अंतिम संस्कार है। उनकी अंतिम संस्कार की तैयारियां पूरी हो चुकी है। पूरे गांव में मातम फैला हुआ है। पूरा गांव उसकी अंतिम विदाई में शामिल होने पहुंचा है। उत्तर प्रदेश सरकार में पंचायतराज राज्यमंत्री भूपेंद्र सिंह समेत अाला अधिकारी और गणमान्य लोग मौजूद रहे।
रवि कुमार का पार्थिव शरीर रात लगभग दो बजे मुरादाबाद पहुंचा था। काठमांडु में पोस्टमार्टम कराने के बाद विमान के जरिये दिल्ली और फिर वहां तमाम औपचारिकताएं पूरी करने के बाद रवि का भाई मनोज कुमार शहर के अन्य लोगों के साथ रात में पार्थिव शरीर को लेकर पहुंचा। भारी सुरक्षा के बीच रवि के पार्थिव शरीर को रात में तीर्थंकर महावीर विश्वविद्यालय के मेडिकल कॉलेज की मॉर्चरी में रखा गया था। सुबह सात बजे रवि की अंतिम यात्रा शुरू हुई।

रवि को श्रद्धांजलि देने और अंतिम दर्शन के लिए शव को शहर के सिविल लाइन्स स्थित अंबेडकर पार्क में रखा गया है। उत्तर प्रदेश सरकार में पंचायतराज राज्यमंत्री भूपेंद्र सिहं, नगर विधायक रितेश गुप्ता, सामाजिक संगठनों से जुड़े लोग, पुलिस-प्रशासनिक अफसरों के साथ ही शहर के गणमान्य लोगों के साथ ही आम लोगों का श्रद्धांजलि देने का सिलसिला जारी है। लोगों ने रवि की जांबाजी और पर्वतारोहण के उसके जुनून के चर्चे किए।

इस दौरान रवि के चहेतों ने रवि जिंदाबाद, जब तक सूरज-चांद रहेगा, रवि तेरा नाम रहेगा के नारे भी लगाए। सुबह नौ बजे रवि के पार्थिव शरीर को रामगंगा के किनारे ला जाया जाएगा, जहां पर अंतिम संस्कार किया जाएगा।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया