राष्ट्रपति चुनाव: मीरा के कई वोट रामनाथ कोविंद को पड़े, पढ़ें कहां-कहां हुई क्रॉस वोटिंग

Updated on: 19 November, 2019 05:26 PM

राष्ट्रपति पद के चुनाव में कांग्रेस विपक्षी एकता को बरकरार रखने में काफी हद तक सफल रही है। कुछ राज्यों में  नवनिर्वाचित राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के पक्ष में क्रॉस वोटिंग हुईं। हालांकि विपक्ष की तरफ से राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार मीरा कुमार को भी कुछ राज्यों में उम्मीद से अधिक वोट मिले।

एनडीए दिल्ली, यूपी, त्रिपुरा, महाराष्ट्र और गुजरात में विपक्षी वोट में सेंध लगाने में कामयाब रही। वहीं, विपक्षी उम्मीदवार मीरा कुमार के पक्ष में राजस्थान, हिमाचल प्रदेश, सिक्किम और नगालैंड में क्रॉस वोटिंग हुईं। कांग्रेस के लिए सबसे बड़ी चिंता गुजरात को लेकर है। गुजरात में जल्द चुनाव होने हैं।

गुजरात में क्रॉस वोटिंग :
गुजरात में नवनिर्वाचित राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को 132 वोट मिले जबकि विधानसभा चुनाव में भाजपा को सिर्फ 115 सीट मिली थी। कांग्रेस के पास 61 विधायक हैं। इसके अलावा उसे एनसीपी के दो विधायकों का भी समर्थन हासिल था। मगर विपक्ष की तरफ से पद की उम्मीदवार मीरा कुमार को सिर्फ 49 वोट मिले। गुजरात में क्रॉस वोटिंग ने पार्टी की चिंता बढ़ा दी है क्योंकि, कांग्रेस विधानसभा चुनाव में जीत की संभावनाएं तलाश रही है।

यूपी में भी सेंध:
उत्तर प्रदेश में भी कोविंद के पक्ष में क्रॉस वोटिंग हुई। आंकड़ो के मुताबिक विपक्षी उम्मीदवार मीरा कुमार को 74 वोट मिलने चाहिए थे, लेकिन उन्हें सिर्फ 65 वोट मिले। माना जा रहा है कि समाजवादी पार्टी में चल रही कलह का फायदा रामनाथ कोविंद को मिला।

त्रिपुरा में कोविंद :
त्रिपुरा में तृणमूल कांग्रेस के छह विधायकों ने पार्टी से बगावत करते हुए रामनाथ कोविंद के पक्ष में वोट किया। दरअसल, यह सभी विधायक तृणमूल कांग्रेस के विपक्षी उम्मीदवार मीरा कुमार का समर्थन करने से नाराज थे क्योंकि, सीपीएम भी मीरा कुमार का समर्थन कर रही थी।
 
राजस्थान में फायदा :
दूसरी तरफ विपक्ष राजस्थान में एनडीए के वोट में सेंध लगाने में सफल रहा है। राजस्थान में कांग्रेस के 21 और बसपा के तीन विधायक हैं। मगर मीरा कुमार को 34 वोट मिले। कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि राजस्थान में विपक्ष के पक्ष में क्रॉस वोटिंग हुई।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया