US की धमकी: ईरान अमेरिकी नागिरकों को वापस सौंपे नहीं तो...

Updated on: 04 July, 2020 05:06 AM

अमेरिका ने ईरान पर आरोप लगाया है कि वह बंदी बनाए गए लोगों का इस्तेमाल विदेश नीति के अस्त्र के तौर पर करता है। इसके साथ ही व्हाइट हाउस ने तेहरान को चेतावनी दी है कि अगर वह अवैध तरीके से बंदी बनाए गए अमेरिकी नागरिकों को लौटाता नहीं है तो उसे नए और गंभीर परिणाम भुगतने होंगे। हाल ही में ईरान द्वारा शियु वांग को 10 साल की कैद दिए जाने की निंदा करते हुए व्हाइट हाउस ने कहा, अवैध ढंग से बंदी बनाए गए सभी अमेरिकी नागरिकों को वापस नहीं भेजा जाता है तो अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ईरान को नए और गंभीर परिणाम भुगतने के लिए मजबूर करने के लिए तैयार हैं।
     
ईरान की हिरासत में मौजूद अमेरिकी नागरिकों की कुशलता के लिए ईरान को जिम्मेदार ठहराते हुए व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव सारा सैंडर्स ने कहा कि लगभग 45 साल तक उसने बंदी बनाए गए लोगों का इस्तेमाल विदेश नीति के एक अस्त्र के तौर पर किया है। उसका ऐसा करना आज भी जारी है, शियु वांग को 10 साल कैद की सजा दिया जाना इसका हालिया उदाहरण है। प्रिंसटन यूनिवसर्टिी के 37 वषीर्य शोधकर्ता शियु एक चीनी अमेरिकी हैं और उन पर ईरान में घुसपैठ करने का आरोप है।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया