शपथ ग्रहण समारोह : प्रणब मुखर्जी से मिलने पहुंचे रामनाथ कोविंद, राजघाट पर बापू को दी श्रद्धांजलि

Updated on: 19 November, 2019 04:26 AM

आज देश के 14वें राष्ट्रपति के रूप में रामनाथ कोविंद शपथ लेंगे। शपथ ग्रहण समारोह की तैयारियां पूरी हो चुकी हैं। पीएम मोदी, पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी और चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया की मौजूदगी में देश के नए राष्ट्रपति अपना कार्यभार संभालेंगे। शपथ ग्रहण समारोह में कई बड़े दिग्गज शामिल होंगे, कई राज्यों के मुख्यमंत्री आज महामहिम की शपथ  के साक्षी बनेंगे।

गृह मंत्रालय की ओर से जारी बयान के अनुसार, इस समारोह में भाग लेने के लिए राज्यसभा के सभापति, प्रधानमंत्री, भारत के प्रधान न्यायाधीश, लोकसभा अध्यक्ष, मंत्रिपरिषद के सदस्य, राज्यों के राज्यपाल, मुख्यमंत्री, राजनयिक मिशनों के प्रमुख, संसद सदस्य और भारत सरकार के प्रमुख असैनिक और सैनिक अधिकारी केंद्रीय कक्ष में एकत्र होंगे।
-राष्ट्रपति भवन में प्रणब मुखर्जी से मुलाकात कर रहे हैं रामनाथ कोविंद
- रामनाथ कोविंद ने राजघाट जाकर राष्ट्रपति महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि दी, साथ में पत्नी भी रहीं मौजूद
प्रधानमंत्री को शपथ राष्ट्रपति दिलाते हैं और मुख्यमंत्री को राज्यपाल। ऐसे में ये सवाल सबके मन में आता है कि राष्ट्रपति जो महामहिम का पद है उन्हें शपथ कौन दिलाता होगा। हम आपको बताते हैं कि उन्हें शपथ कौन दिलाता है। चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया (भारत के मुख्य न्यायाधीश) की मौजूदगी में देश के राष्ट्रपति शपथ लेते हैं, अगर किसी कारण से वे उपस्थित नहीं हो पाते हैं तो सुप्रीम कोर्ट ऑफ इंडिया के सीनियर के सामने राष्ट्रपति शपथ लेते हैं।

आज का कार्यक्रम

12.15 बजे सेंट्रल हॉल में कार्यक्रम शुरू होगा। सुबह-सुबह रामनाथ कोविंद राष्ट्रपति भवन के प्रांगण में पहुंचेंगे। खबर है कि वे इससे पहले राजघाट जाएंगे।

कोविंद पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के साथ एक ही कार में संसद जाएंगे और वहां से लोकसभा और राज्यसभा स्पीकर दोनों को लेकर सेंट्रल हॉल जाएंगे।
आर्टिकल 56 के मुताबिक, जिस दिन राष्ट्रपति शपथ लेते हैं, उस दिन से उनका पांच साल का कार्यकाल शुरू हो जाता है। शपथ के दौरान 21 तोपों की सलामी दी जाएगी। नए राष्ट्रपति भाषण देंगे। आखिरी में प्रणब मुखर्जी विदाई लेंगे।
प्रोटोकॉल के मुताबिक, नए राष्ट्रपति यानी कोविंद को निर्वतमान राष्ट्रपति (प्रणब मुखर्जी) राष्ट्रपति भवन के स्टडी रूम में ले जाएंगे। वहां वो उनको कुर्सी पर बिठाएंगे।
इसके बाद वे प्रणब मुखर्जी को उनके नए रेसिडेंस राजाजी मार्ग में लेकर जाएंगे।
ये रहेंगे शामिल
राज्यसभा के सभापति, प्रधानमंत्री, सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस, लोकसभा स्पीकर, कैबिनेट मेंबर्स, राज्यपाल, मुख्यमंत्री, विदेशी एम्बेसेडर्स, सांसद और भारत सरकार के प्रमुख सिविल और मिलिट्री ऑफिसर मौजूद रहेंगे

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया