सडकों पर शिक्षामित्र: अमरोहा में कैबिनेट मंत्री की फैक्ट्री में किया हंगामा

Updated on: 19 August, 2019 01:29 AM

अमरोहा में समायोजन रदद होने से आक्रोशित शिक्षामित्रों ने कैबिनेट मंत्री की फैक्ट्री में पहुंचकर हंगामा कर दिया। शिक्षामित्रों ने वादे के बाद भी मंत्री के न मिलने पर नाराजगी जताई। दोपहर 12 बजे तक प्रदर्शनकारी शिक्षामित्र फैक्ट्री में जमे हुए थे। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद से यूपी में नाराज शिक्षा मित्रों का विरोध जारी है।शुक्रवार को भी हजारों शिक्षामित्र स्कूल से निकलकर सड़क पर उतर पड़े।
असमंजस में शिक्षामित्र, जानें सुप्रीम कोर्ट के फैसले की 5 अहम बातें

अध्यापक के पद पर समायोजन रद्द होने से गुस्साए शिक्षा मित्र शुक्रवार सुबह हाईवे किनारे प्रदेश के कैबिनेट मंत्री चेतन चौहान की फैक्ट्री में पहुंचे और प्रदेश व केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी। शिक्षामित्रों ने केंद्र व प्रदेश सरकार पर सुप्रीम कोर्ट में ठीक से पैरवी न करने का आरोप लगाया।

शिक्षा मित्रों ने बीते दिवस चेतन चौहान से टेलीफोनिक वार्ता के बाद फैक्ट्री में धरना प्रदर्शन का ऐलान किया था। लेकिन वादे के बाद भी केबिनेट मंत्री उन्हे नहीं मिले और न ही धरना प्रदर्शन के लिए दरी आदि की व्यवस्था हुई जिस पर शिक्षामित्र आक्रोशित हो गए और 2019 के चुनाव में भाजपा को सबक सिखाने की घोषणा की। दोपहर 12 बजे तक शिक्षामित्रों का फैक्ट्री परिसर में धरना प्रदर्शन जारी है और शिक्षा मित्रों ने चेतन चौहान को फैक्ट्री में बुलाने की मांग की है।

शिक्षामित्र ने जहर खाकर दी जान
बदायूं में समायोजन रद होने के फैसले से आहत शिक्षामित्र ने गुरूवार को जहरीला प्रदार्थ खा लिया। जिससे उसकी बरेली के एक अस्पताल में उपचार के दौरान मौत हो गई। समायोजन रद होने के फैसले से फैसले के बाद से आहत उसावां क्षेत्र के रतिनगला के प्राथमिक विद्यालय में तैनात शिक्षामित्र हरेश यादव ने विषाक्त पदार्थ खा लिया था। हालत गंभीर होने पर उसे बरेली के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहां उनकी उपचार के दौरान मौत हो गई। सूचना मिलतेही परिवार में कोहराम मच गया। परिवारजन बिना पोस्टमार्टम कराए शव को घर ले आए और गंगा किनारे अंतिम संस्कार कर दिया। शिक्षामित्र के अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए संघ के पदाधिकार गांव पहुंचे और घटना पर शोक जताया। हालांकि इस घटना की प्रशासन ने जानकारी होने से अभी तक इंकार किया है।

गोरखपुर में 10 हजार शिक्षामित्रों ने उपवास रख कर किया प्रदर्शन
डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या के गोरखपुर में कार्यक्रम की सूचना पर इकट्ठा हुए मंडल के 10 हजार से अधिक निराश शिक्षामित्रों ने गुरुवार को उपवास रखकर प्रदर्शन किया था। डिप्टी सीएम का कार्यक्रम रद्द होने की सूचना के बाद गोरखनाथ मंदिर के लिए कूच किए शिक्षामित्रों और पुलिस के बीच धर्मशाला बाजार से गोलघर काली मंदिर के बीच 3 घंटे तक संघर्ष हुआ। शिक्षामित्रों पर पुलिस पानी के बौछार कराए तो वे तोड़फोड़ करने लगे।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया