एक थी रागिनी: कांपते हाथों से पिता ने दी बेटी को मुखाग्नि

Updated on: 20 October, 2019 12:32 PM

बांसडीह रोड थाना क्षेत्र के बजहां गांव में सरेराह 12वीं की छात्रा रागिनी की हत्या के बाद मंगलवार की देर रात अंतिम संस्कार कर दिया गया। घटनास्थल से अस्पताल लाए गए शव को पोस्टमार्टम के बाद पुलिस ने परिजनों को सौंप दिया। शहर से सटे महावीर घाट पर पिता ने कांपते हाथों से बेटी को मुखाग्नि दी।

देर रात पुलिस ने पंचायतनामा भरकर शव को घरवालों को सौंप दिया। परिजन तथा नाते-रिश्तेदार रात में ही शव को लेकर गंगा नदी के महावीर घाट पहुंचे और करीब साढ़े 10 बजे अंतिम संस्कार कर दिया। मुखाग्नि पिता जितेन्द्र दूबे ने दी।

नदी तट से घर पहुंचे जितेन्द्र बेटी की मौत का सदमा बर्दाश्त नहीं कर पाये और उनकी तबियत बिगड़ने लगी। उनकी परेशानी बढ़ी तो परिवार के लोग भोर में ही उन्हें लेकर जिला अस्पताल पहुंचे। डॉक्टरों ने उन्हें भर्ती कर इलाज शुरू कर दिया। सुबह करीब नौ बजे राहत मिलने पर डॉक्टरों ने उन्हें डिस्चार्ज किया। अस्पताल से इलाज कराकर घर पहुंचे जितेन्द्र ने श्राद्ध कार्यक्रम के लिये घंट बंधवाया।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया