अलर्ट: डेरा प्रमुख राम रहीम पर फैसला कल, ढाई लाख समर्थक पंचकुला में जुटे

Updated on: 17 September, 2019 09:04 PM

डेरा प्रमुख राम रहीम के करीब ढाई लाख समर्थक बुधवार को पंचकूला पहुंच चुके हैं। डेरा प्रमुख पर शुक्रवार को फैसले को देखते हुए सी.बी.आई. कोर्ट और चंडीगढ़ सेक्टर-एक की किलेबंदी कर दी गई है। फैसले के दिन हरियाणा में बस सेवा पूरी तरह बंद कर दी गई है। जिले में करीब 43 जगह हैवी बैरिके¨डग सहित बॉर्डर सील कर दिए गए हैं। चप्पे-चप्पे पर अर्धसैनिक बल तैनात हैं। इतना ही नहीं ड्रोन कैमरों से शहर के कोने-कोने नजर रखी जा रही है। गुरुवार सुबह तक पांच से आठ लाख तक डेरा समर्थक पहुंचने की संभावना है। चंडीगढ़ के सेक्टर 16 के क्रिकेट मैदान को अस्थाई जेल में बदला गया है। जरूरत पडऩे पर अन्य स्टेडियमों को भी अस्थाई जेल बनाया जा सकता है।

हाईकोर्ट में याचिका
इस संबंध में पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट में एक याचिका दायर कर मामले में उचित आदेश देने की मांग की गई है। याचिकाकर्ता ने कहा कि पंचकूला व आसपास के लोग पिछले कई दिनों से खौफ में जी रहे है। जैसे-जैसे फैसले का दिन नजदीक आ रहा है डेरा समर्थकों की संख्या बढ़ती जा रही है। धारा 144 के बाद भी लाखों लोग आ रहे हैं। उधर,गुरमीत राम रहीम के वकील एस.के. गर्ग नरवाना ने कहा कि गुरमीत शुक्रवार को सीबीआई कोर्ट में पेश होंगे। उन्होंने सभी से शांति बनाए रखने की अपील की है।

कर्फ्यू लग सकता है

हरियाणा के गृह सचिव रामनिवास ने किसी भी स्थिति से निपटने के लिए पुख्ता तैयारियों का भरोसा दिलाया है। उन्होंने कहा कि 25 अगस्त को हरियाणा में बस सेवाएं पूरी तरह से बंद रहेंगी। इस दौरान कोई भी निजी बस या फिर रोडवेज की बस नहीं चलेगी। उन्होंने कहा कि जरूरत हुई तो कफ्यरू भी लगाया जा सकता है और सेना की मदद भी ली जा सकती है। डेरा सच्च सौदा के प्रेमियों ने हरियाणा सरकार को बड़ी चुनौती देते हुए पंचकूला में डेरा डाल लिया है। डेरा प्रेमियों ने खुलकर धारा 144 की धज्जियां उड़ाई और पुलिस कर्मी मूक दर्शक बनकर देखते रहे। डेरा प्रेमियों की संख्या को देखते हुए हरियाणा सरकार द्वारा किए गए तमाम प्रबंध नाकाफी साबित हो रहे हैं।

अतिरिक्त बल की तैनाती
इस बीच आज हरियाणा सरकार ने पंचकूला में अतिरिक्त पुलिस बल तैनात कर दिया है। इसके साथ ही पंजाब, दिल्ली और हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड की सीमा पर अतिरिक्त सुरक्षा बलों की तैनाती और चौकसी बढ़ा दी गई है। 25 अगस्त को आने वाले फैसले को लेकर गुरुग्राम और फरीदाबाद में भी प्रशासन और पुलिस चाक-चौबंद है। दोनों जिलों में सरकारी कर्मचारियों और अफसरों की छुट्टियां रद्द कर दी गई हैं। उन्हें स्टेशन नहीं छोड़ने के निर्देश दिए गए हैं। उधर स्कूल और कॉलेजों में फैसले वाले दिन अवकाश की घोषणा की गई है। इसके अलावा दोनों जिलों में ड्यूटी मजिस्ट्रेट नियुक्त किए गए हैं। अतिरिक्त पुलिस बल के तैयार रहने के भी निर्देश दिए गए हैं।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया