टीचर्स डे: शिक्षक थे देश के पहले उप राष्ट्रपति डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन

Updated on: 16 September, 2019 04:45 AM

शिक्षक दिवस आज यानि पांच सितंबर को मनाया जाता है। देश के पहले उप राष्ट्रपति सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्मदिन के मौके पर शिक्षक दिवस 1962 से हर साल 5 सितंबर को मनाया जा रहा है। राधाकृष्णन न सिर्फ पहले उप-राष्ट्रपति थे, बल्कि वे देश के दूसरे राष्ट्रपति भी थे। इसके अलावा डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन ने 40 सालों तक टीचर के रूप में कार्य किया।

देश के पहले उप-राष्‍ट्रपति डॉ राधाकृष्‍णन का जन्म 5 सितंबर 1888 को तमिलनाडु के तिरुमनी गांव में एक ब्राह्मण परिवार में हुआ था। वे बचपन से ही किताबें पढ़ने के शौकीन थे और स्वामी विवेकानंद से काफी प्रभावित थे। राधाकृष्णन का निधन चेन्नई में 17 अप्रैल 1975 को हुआ।

1954 में मिला भारत रत्न

डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन को 1954 में देश के सबसे बड़े नागरिक सम्मान भारत रत्न दिया गया। इसके अलावा ऑर्डर ऑफ मेरिट, नाइट बैचलर आदि जैसे कई अवॉर्ड्स से सम्मानित किया गया।

राष्ट्रपति ने शिक्षक दिवस की पूर्व संध्या पर बधाई दी

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शिक्षक दिवस की पूर्व संध्या पर आज देश भर के शिक्षकों को बधाई दी और कहा कि हमारी नैतिक जिम्मेदारी है कि हम शिक्षकों के प्रति सम्मान और आभार प्रकट करें। राष्ट्रपति ने अपने संदेश में कहा कि भारत के पूर्व राष्ट्रपति डॉ़ सर्वपल्ली राधाकष्णन एक प्रख्यात दार्शनिक और शिक्षक भी थे।

उनका जन्म-दिन प्रत्येक साल पांच सितंबर को शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाता है। हमारे देश में गुर-शिष्य की महान परंपरा रही है, जिसके तहत गुर अपना ज्ञान अपने शिष्यों को प्रदान करते हैं और उन्हें सशक्त बनाते हैं।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया