छापेमारी: मिड डे मील की जगह बना रहे थे सिंथेटिक दूध, पुलिस ने पकड़ा

Updated on: 19 August, 2019 01:32 AM

मिड डे मील के नाम पर हसनपुर नगरपालिका के 19 व नगर पंचायत उझारी क्षेत्र के 9 प्राथमिक व उच्च प्राथमिक स्कूलों के करीब 1200 बच्चों के स्वास्थ्य से खिलवाड़ किया जा रहा था। बच्चों को सिंथेटिक दूध पिलाया जा रहा था। ताहड़ी के नाम पर मोटे पीले चावल दिए जा रहे थे।

भाजपा के नगर अध्यक्ष अतुल गर्ग की शिकायत पर एसडीएम गंभीर सिंह ने बुधवार दोपहर अस्पताल मार्ग पर स्थित मिड डे मील तैयार करने वाली संस्था की रसोई पर छापा डाला तो इसका खुलासा हुआ। मौके से एक कारिंदे को हिरासत में ले लिया गया। एसडीएम ने खाद्य विभाग की टीम को बुलाकर दूध व् चावल के सैंपल उठाए हैं।

बताया जा रहा है कि मिड डे मील सप्लाई का ठेका वर्ष 2015 से जोया के एक एनजीओ के नाम है। एसडीएम ने खंड शिक्षा अधिकारी अंबरेश कुमारी को मौके पर बुलाकर एनजीओ संचालकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने के आदेश दिए हैं। मुख्य खाद्य अधिकारी पंकज कुमार गुप्ता के मुताबिक मौके से मिल्क पाउडर बरामद हुआ है। ताहड़ी व दूध के सैंपल उठा कर जांच को भेजे जा रहे हैं।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया