शोध छात्रा से दुराचार मामले में बीएचयू के छात्र को 7 साल कैद

Updated on: 24 January, 2020 06:58 PM

फास्ट ट्रैक कोर्ट के न्यायाधीश रामचन्द्र की कोर्ट ने बीएचयू की शोध छात्रा को झांसा देकर उसके साथ दुराचार के मामले में आरोपी सीनियर छात्र विजय कुमार को दोषी पाते हुए सात साल की सजा सुनाई है। साथ ही 21 हजार जुर्माना भी लगाया है।  अर्थदण्ड न अदा करने पर आरोपी को अतिरिक्त सजा भुगतनी होगी।

एडीजीसी संजय श्रीवास्तव के मुताबिक 22 जनवरी 2016 को बीएचयू के शोध छात्र विजय कुमार अपनी जूनियर छात्रा को शोध पेपर में मदद के नाम पर छित्तूपुर स्थित कमरे पर ले गया और उसके साथ जबरन दुराचार किया। पीडि़ता किसी तरह घटनास्थल के निकलनी और बाद में बीएचयू प्रशासन से शिकायत की। मामले में लंका थाने में मुकदमा दर्ज भी कराया। पुलिस ने विवेचना के बाद आरोपी के खिलाफ कोर्ट में आरोप पत्र दाखिल किया। अदालत में अभियोजन की ओर से पांच गवाह पेश किये गये। अदालत ने दोनों पक्ष को सुनने व साक्ष्य के अवलोकन के बाद आरोपी को दोषी पाते हुए सजा सुनाई।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया