रेयान मर्डर केस:चश्मदीद हरपाल माली की जुबानी सुनें प्रद्युम्न हत्याकांड की पूरी कहानी

Updated on: 16 November, 2019 08:22 AM

रेयान इंटरनेशनल स्कूल के चश्मदीद माली हरपाल के बयानों से पुलिस की वह थ्योरी पूरी तरह से संदेह के घेरे में आ गई है, जिसमें प्रद्युम्न हत्याकांड में बस कंडक्टर अशोक को एकमात्र आरोपी बताया गया है। एसआईटी टीम ने गुरुवार को भौंडसी थाना पहुंचकर हरपाल के बयान दर्ज किए। टॉक टुडे  संवाददाता ने हरपाल से पूरे घटनाक्रम पर विस्तार से बात की। प्रस्तुत है बातचीत के प्रमुख अंश...

रेयान केस: 10 मिनट में की थी प्रद्युम्न की हत्या, ऐसे हुआ था खुलासा

प्रश्न- हरपाल आप कब शौचालय के पास पहुंचे थे?
हरपाल- सुबह करीब साढ़े सात बजे वाटर कूलर से पानी पीने के लिए गया था। उस समय शौचालय के पास कोई नहीं था। पानी पीकर वापस काम पर जा रहा था तो आधे रास्ते में शौचालय के पास शोर सुनाई दिया। मुझे लगा कि कोई झगड़ा हो गया है। शौचालय के पास जाकर देखा तो बच्चे चिल्ला रहे हैं। 

प्रश्न- फिर आपने क्या किया?
हरपाल- शौचालय के पास दो से तीन छोटे छात्र खड़े थे। शौचालय के बाहर गली में प्रद्युम्न जमीन पर गिरा था। उसके गले पर गहरा घाव था, जिससे खून बह रहा। उसे देख मैं खुद भी बुरी तरह से घबरा गया। मैने छात्रों को तुरंत अंजू मैडम को बुलाकर लाने के लिए कहा।  

प्रश्न-अंजू मैडम मौके पर आई थी क्या?
हरपाल- अंजू मैडम ने प्रद्युम्न को खून से लथपथ देखा और जोर से चिल्लाई। उसी समय कंडक्टर अशोक शौचालय के बाहर साइड में लगे वाटर कूलर की तरफ से आता देखा।

प्रश्न- अशोक जब पहुंचा तो क्या वह घबराया हुआ था?
हरपाल- अशोक सामान्य हालात में था। अशोक को पसीना भी नहीं था और न ही अशोक के कपड़ों पर खून का कोई निशान था।

प्रश्न- प्रद्युम्न को उठाने के लिए किसने कहा?
हरपाल- अंजू मैडम ने प्लीज कहते हुए खून से फर्श पर लथपथ पड़े प्रद्युम्न को उठाने के लिए बोला। मैं प्रद्युम्न को उठा नहीं सका। उसके बाद मैडम ने अशोक को प्रघुम्न को उठाने के लिए कहा।

प्रश्न- प्रद्युम्न को उठाकर अस्पताल तक किस वाहन से लेकर गए?
हरपाल- अंजू मैडम उसे अपनी वैगनआर कार में लेकर गई थी।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया