बदलता रुख: चीन ने पहली बार माना- पाकिस्तान आतंक का पोषक

Updated on: 11 July, 2020 01:28 PM

अमेरिका के बाद अब चीन ने भी पहली बार स्पष्ट तौर पर माना है कि पाकिस्तान  आतंकवाद का पोषक है और इसे फैला रहा है। चीन का यह रुख संयुक्त राष्ट्र महासभा में भारत द्वारा पाकिस्तान को बेनकाब करने के बाद आया है। चीन के सरकारी अखबार ‘ग्लोबल टाइम्स’ में प्रकाशित एक लेख में पाकिस्तान द्वारा आतंकवाद पर अपनाई जा रही नीति पर सवाल उठाया गया है।

पाकिस्तान में आतंकवाद की बात को स्वीकार करते हुए लेख में कहा गया, ‘पाकिस्तान में वास्तव में आतंकवाद है। मगर क्या देश की राष्ट्रीय नीति में आतंक का समर्थन किया जा रहा है? पाक आतंकवाद का समर्थन करके क्या हासिल कर सकता है? धन या सम्मान?।

इससे पहले ब्रिक्स सम्मेलन में चीन ने पाकिस्तान में मौजूद आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद और लश्कर-ए-तैयबा के खिलाफ कार्रवाई की बात कही थी, लेकिन पाक का नाम नहीं लिया था।

कश्मीर मुद्दे पर भी झटका दे चुका
चीन ने पिछले हफ्ते ही यह कहते हुए पाकिस्तान को झटका दिया कि कश्मीर मुद्दे को भारत और पाकिस्तान आपस में मिलकर सुलझाएं। चीनी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता लू कांग ने कहा था, ‘कश्मीर पर चीन का रुख बिल्कुल स्पष्ट है। यह मुद्दा काफी पुराना है और चीन को उम्मीद है कि दोनों देश आपस में शांति से इस मुद्दे को सुलझा लेंगे।’

सुषमा के बयान से चिढ़ा
चीन यूएन में सुषमा स्वराज के भाषण से चिढ़ गया है। उसने सरकारी अखबार ‘ग्लोबल टाइम्स’ में प्रकाशित लेख में कहा कि यूएन में सुषमा का भाषण पाक के प्रति भारत के अहंकार और कट्टरता को दर्शाता है। सुषमा ने अपने भाषण में आतंकवाद पर पाक की बखिया उधेड़कर रख दी थी।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया