गुजरात: गरबा में शामिल होने पर की पीट-पीटकर की हत्या, दो लोगों को मूंछ रखने पर पीटा

Updated on: 20 July, 2019 02:58 AM

गुजरात में दलितों के साथ बेरहमी के तीन मामले सामने आए हैं। आणंद में रविवार को गरबा आयोजन में शामिल होने पर दलित युवक की पीटकर हत्या कर दी गई। पुलिस ने इस मामले में आठ लोगों को गिरफ्तार किया है। इससे पहले, गांधीनगर में दो घटनाओं में मूंछ रखने को लेकर दो दलित की पिटाई कर दी गई।

आणंद की घटना रविवार तड़के की है। पुलिस ने बताया कि जयेश सोलंकी, उसका रिश्तेदार प्रकाश सोलंकी और दो अन्य दलित व्यक्ति भद्रानिया गांव में गरबा देख रहे थे। तभी पटेल जाति के एक व्यक्ति ने इनसे जाति पूछी और कहा कि दलितों को गरबा देखने का अधिकार नहीं है। इस दौरान कुछ और लोगों को बुलाकर चारों को पीटा। जयेश का सिर एक दीवार पर दे मारा। जयेश को अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। आठ लोगों के खिलाफ हत्या और ज्यादती निरोधक अधिनियम के तहत एफआईआर दर्ज की है। 

मूंछ रखने पर जमकर धुनाई की
गांधीनगर के लिंबोदरा गांव में 29 सितंबर को भरत सिंह वाघेला नामक व्यक्ति ने विधि छात्र कुणाल महेरिया (30) की पिटाई की। महेरिया ने रविवार को कहा, मैं शुक्रवार को दोस्त के घर जा रहा था। तभी वाघेला अैर कुछ अन्य लोगों ने गाली देते हुए कहा कि मूंछ लगा लेने से कोई राजपूत नहीं हो जाता। उसकी बात को तवज्जो नहीं दी तो डंडे से मेरी पिटाई की गई। गांधीनगर सिविल अस्पताल में इलाज के बाद महेरिया आज अपने घर लौटा। पुलिस ने वाघेला को रविवार को गिरफ्तार कर लिया है। वहींलिंबोदरा गांव में ही 25 सितंबर को भी राजपूत समुदाय के कुछ सदस्यों ने पीयूष परमार (24) की पिटाई कर दी थी। परमार ने आरोप लगाया की ऊंची जाति के लोगों ने मूंछ को लेकर उसकी पिटाई की। उस मामले में कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है। 

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया