शव दफनाने के मामले को प्रशासन ने सुलझाया

Updated on: 20 October, 2019 05:54 PM

 शहाबगंज | नवजात शिशु के शव को दफनाने के मामले में बुधवार को तूल पकड़ लिया |जानकारी होते ही पुलिस प्रशासन के हाथ -पाव फूल गये |उपजिलाधिकारी, पुलिस क्षेत्राधिकारी भारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच गये |मामला शहाबगंज थाना क्षेत्र के बड़ौरा गांव का है |मऊ जनपद के कटरा निवासी परवेज अली की पत्नी अफसाना अपने मायके बड़ौरा गांव आयी हुई है |अफसाना को प्रसव पीड़ा होने पर सूबह पीएचसी शहाबगंज में दाखिल कराया गया |उसने नवजात शिशु को जन्म दिया |मासूम के काफी देर रोने की आवाज न सुनाई देने पर परिजन हैरत में पड़ गये |चिकित्सकों ने परिक्षण के पश्चात उसे मृत घोषित कर दिया |परिजन शव को  इलियां थाना क्षेत्र के कलानी गांव में दफन को ले जाने की तैयारी में जूट गये |जानकारी होते ही कलानी गांव के दर्जनों लोग सड़क पर आ गये और शव दफन करने से रोक दिया |इस विवाद को लेकर दोनों गांव के लामबंद हो गये |कलानी गांव के लोगों का कहना रहा कि गांव में कब्रिस्तान के लिए भू -अभिलेख में जमीन नहीं है |वहीं मृत के परिजनों का कहना था कि समुदाय के लोग काफी समय से उक्त गांव में शव दफन किया जाता रहा |मामले की सूचना मिलने पर उपजिलाधिकारी राम सजीवन मौर्य व पुलिस क्षेत्राधिकारी त्रिपुरारी पांडेय मय फोर्स बड़ौरा गांव पहुंच गये |अधिकारी द्वय ने मृतक के परिजनों को शव उसके गांव मऊ जनपद के कटरां में दफन कराने की अनुमति दी |जबकि परिजन उक्त गांव के कब्रिस्तान में शव दफन करने की मांग पर अड़े रहे |मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस क्षेत्राधिकारी ने हस्तक्षेप किया |इसके बाद परिजन मृतक के शव को उसके गांव स्थित कब्रिस्तान में दफनाने पर राजी हो गये |गरीब परिजनों ने प्रशासन के समक्ष आर्थिक समस्या गिनाई |इस पर दरिया दिली दिखाते हुए पुलिस क्षेत्राधिकारी ने परिजन की भरपूर आर्थिक मदद की |ग्रामीणों ने इसकी मुक्तकंठ से प्रशंसा की |इस दौरान थाना प्रभारी शहाबगंज एनएन सिंह व इलियां गंगा प्रसाद, ग्राम प्रधान प्रतिनिधि रमेशचंद समेत कई लोग उपस्थित थे |

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया