घर में खेल रहे मासूम को तेंदुए ने झपटा, परिजनो ने तेंदुए के मुंह से मासूम को छीना

Updated on: 22 April, 2019 06:35 AM

घर के आंगन में खेल रहे साढ़े 3 वर्ष के मासूम को तेंदुआ झपट्टा मारकर गन्ने के खेत में ले गया। मासूम की चीख पर आनन-फानन में परिजनों ने गन्ने के खेत में घुसकर तेंदुए के मुंह से मासूम को खींच लिया। गंभीर अवस्था में उसे सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया।

जहां से उसे उत्तराखंड के काशीपुर रेफर कर दिया। सूचना पर पुलिस प्रशासन व वन विभाग में हड़कंप मच गया। सूचना के कई घंटे के बाद वन विभाग की टीम के पहुंचने पर ग्रामीणों ने प्रदर्शन कर तेंदुए को पकड़ने की मांग की।कोतवाली क्षेत्र के गांव खाईखेड़ा निवासी भजन सिंह की बड़ी बेटी अमृता देवी पत्नी विक्रम सिंह काशीपुर स्थित एक फैक्ट्री में नौकरी करती है।

उसने अपने बेटे अंकित कुमार को अपनी मां छोटी, पिता भजन सिह के पास छोड़ रखा है वही उसका लालन-पालन करते है। इसी वर्ष गांव में स्थित गौरव निकेतन बाल विद्या मंदिर में नर्सरी में प्रवेश दिलाया है। बीती रात साढ़े तीन वर्षीय अंकित घर के आंगन में खेल रहा था। मकान के बराबर में खेत में खड़े गन्ने से निकलकर तेंदुए ने झपट्टा मारकर मासूम को गन्ने के खेत में ले जाने लगा।

मासूम की चीख-पुकार पर परिजनों ने गन्ने के खेत में घुसकर तेंदुए के मुंह से मासूम को छीन लिया। चीख-पुकार पर तेंदुआ भाग गया। खून से लथपथ मासूम को सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया। चिकित्सको ने उत्तराखंड के काशीपुर के लिए रेफर कर दिया। परिजनो ने एक निजी नर्सिगहोम में उसे भर्ती कराया। जिसका उपचार जारी है। पुलिस को सूचना मिलते ही तत्काल मौके पर पहुंचकर तेंदुए की तलाश की लेकिन सफलता नहीं मिली। सूचना के कई घंटे के बाद वन विभाग की टीम के पहुंचने पर ग्रामीणों ने हंगामा कर प्रदर्शन कर तेंदुए को पकड़ने की मांग की। रात में ग्रामीणों का हंगामा देख वन विभाग की टीम काबिंग कर आसपास के क्षेत्र के गांव में धार्मिक स्थलो से तेंदुए से सावधान रहने का ऐलान कराया। बुधवार को वन क्षेत्राधिकारी दिनेश कुमार शर्मा ने अपनी टीम के साथ खाईखेड़ा नाहरवाला, आलमगीरपुर, बहादुरनगर सहित आधा दर्जन गांव में जनसंपर्क कर लोगों से सावधान रहने की अपील की। साथ ही काशीपुर अस्पताल में पहुंचकर बच्चे का हालचाल जाना।

बुधवार को ग्रामीणों ने फिर से तेंदुए पकड़ने की मांग को लेकर प्रदर्शन किया। प्रदर्शन में रामगोपाल सिंह, दिनेश कुमार, भास्कर सैनी, राहुल कुमार, रवि सैनी, योगेंद्र शिवचरन, मौहम्मद आलम, दिनेश कुमार, रामरति, मुन्नी देवी आदि मौजूद थे। इनसेटमासूम के परिजनो की आंखो देवी घटना की बंयाठाकुरद्वारा। हिन्दुस्तान संवाद।खाईखेड़ा निवासी मासूम की मौसी रीता ने बताया कि बीती रात करीब 8 बजे घर पर मां छोटी, पिता भजन सिंह, तरफदलपत निवासी परमेश्वरी देवी घर के आंगन में चारपाई पर बैठी थी। अंकित आंगन में खेल रहा था। बाउंड्री न होने के कारण बराबर में खड़े गन्ने के खेत से निकलकर तेंदुए ने अंकित पर झपट्टा मार अपने साथ गन्ने के खेत में ले गया उसकी चीख पुकार पर जिस हालत में बैठे थे बिना अपनी जान की परवाह किए गन्ने के खेत में घुसकर तेंदुए के मुंह से अंकित को खींच लिया शोर शराबे पर भीड़ को आता देख तेंदुआ गन्ने के खेत में समा गया।

रात्रि 11-12 बजे फिर से तेंदुआ घर के आंगन में बैठ गया। पूरी रात जागकर बिताई। अब तेंदुए का भय सता रहा है। पशु भी वहीं बंधते है। इनसेट चार दिन पूर्व भी महिला हुई थी घायलबुधवार की दोपहर 12 बजे ख्वाजपुर धनतला में खेतों में काम कर रहे किसानों के सामने तेंदुआ दहाड़ मारकर आ गया।

अखिलेश कुमार, कुलदीप, सोनू, महेंद्र सिंह, मुन्ना सिंह आदि अपने खेतों में काम कर रहे थे इसी दौरान तेंदुआ किसानो के सामने आ गया। किसानो ने शोर मचाते हुए भागकर अपनी जान बचाई। ग्रामीणों ने लाठी डंडे लेकर तेंदुए का पीछा किया तो तेंदुआ दहाड़ मारता हुआ जंगलो में समा गया।

चार दिन पूर्व आलमगीरपुर निवासी कमलेश देवी पत्नी वीर सिंह को पशुओ का चारा डालते समय तेंदुए ने हमला बोलकर घायल कर दिया था। उसे भी उपचार के लिए सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया था। बीती रात फिर से तेंदुए ने घर मे घुसकर दहाड़ लगा दी। परिजनो ने लाठी डंडे लेकर तेंदुए को भगा दिया।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया