गोरखालैंड विवादः 300 महिलाओं समेत दार्जिलिंग से वापस लौटेंगे 1000 अर्धसैनिक बल

Updated on: 17 July, 2019 12:38 AM

गृह मंत्रालय ने दार्जिलिंग से 300 महिलाओं समेत 1000 अर्धसैनिक बलों को वापस बुलाने का आदेश दिया है। इन्हें पृथक गोरखालैंड राज्य की मांग संबंधी आंदोलन के दौरान कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए वहां तैनात किया गया था।

मंत्रालय ने एक सूचना में कहा है कि केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) की सात कंपनियां और सशस्त्र सीमा बल की तीन कंपनियां कल से दार्जिलिंग से हट जाएंगी। सीआरपीएफ की इन कंपनियों में तीन महिला कंपनियां हैं। अर्धसैनिक बलों की एक कंपनी में 100 कर्मी होते हैं। अर्धसैनिकों को दार्जिलिंग और कालिमपोंग जिलों में तैनात किया गया था। दार्जिलिंग में पिछले कुछ हफ्तों में स्थिति सुधरी है।

गुरूंग के गांव में भीषण आग

अशांत दार्जिलिंग पहाड़ियों के पटलेबास में जीजेएम के प्रमुख बिमल गुरूंग के गांव में रविवार सुबह भीषण आग लग गई। इससे कई घर क्षतिग्रस्त हो गए।
इनमें से कई मकान गुरूंग के करीबी लोगों के थे।  आग के कारण और हताहतों के बारे में अभी तक पता नहीं चल पाया है और जांच जारी है। खाक हो गए घरों में एक दिनेश ठिंग का है जिन्हें गुरूंग का करीबी माना जाता है। स्थानीय लोगों ने बताया कि गोरखा जनमुक्ति मोर्चा के प्रमुख के घर में आग नहीं लगी लेकिन उसमें तोड़फोड़ की गई। पुलिस ने दावा किया कि गुरूंग के समर्थकों ने सबूत मिटाने के लिए घरों में आग लगाई।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया