भारत-चीन सीमा पर सेटेलाइट फोन के इस्तेमाल से सुरक्षा एजेंसियां सतर्क

Updated on: 10 December, 2019 03:31 AM

सीमांत जनपद में सेटेलाइट फोन का इस्तेमाल होने के मामले लगातार बढ़ने से सुरक्षा एजेंसियां सतर्क हो गई हैं। पिछले छह माह में सेटेलाइट फोन के प्रयोग के चार मामले सामने आ चुके हैं, लेकिन सुरक्षा एजेंसियां अब तक सेटेलाइट फोन का प्रयोग करने वालों का पता नहीं लगा पाई है।

सामरिक दृष्टि से बेहद संवेदनशील भारत, चीन और नेपाल सीमा से सटे पिथौरागढ़ और आसपास के इलाके में सेटेलाइट फोन के प्रयोग की घटनाओं ने सुरक्षा एजेंसियों की नींद उड़ा दी है। पिछले 6 माह में सेटेलाइट फोन का प्रयोग करने के मुनस्यारी और धारचूला में दो-दो मामले सामने आए हैं, लेकिन अब तक इसका प्रयोग करने वालों का कोई पता नहीं लग सका है।

दो अक्तूबर को मरतोली में इस्तेमाल के बाद सतर्कता
दो अक्तूबर को भारत-चीन सीमा पर स्थित मरतोली गांव में सेटेलाइट फोन का इस्तेमाल हुआ था। जिसकी सूचना मिलने के बाद 15 अक्तूबर को स्थानीय पुलिस और सुरक्षा एजेंसियां सक्रिय हुईं। पुलिस टीम और सुरक्षा एजेंसी के अधिकारी मरतोली गांव की तरफ से आने वाले लोगों से गोपनीय ढंग से सेटेलाइट फोन के इस्तेमाल के संबंध में जानकारी जुटाने का प्रयास कर रहे हैं।

कीड़ा-जड़ी तस्करों और विदेशी पर्यटकों पर शक
भारत-नेपाल और चीन सीमा तस्करी के मामलों को लेकर में बेहद संवेदनशील क्षेत्र है। यहां से कीड़ा जड़ी, वन्य जीवों की खालों की भारी मात्रा तस्करी की जाती है। जिसे देखते हुए सुरक्षा एजेंसियों को सीमा पर सक्रिय कीड़ा जड़ी तस्करों और विदेशी पर्यटकों पर सेटेलाइट फोन के इस्तेमाल का शक है।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया