प्रद्युम्न मर्डर केसः उदंड और मानसिक रोगी है आरोपी छात्र, CBI कर रही है पूछताछ

Updated on: 22 November, 2019 09:28 AM

सीबीआई ने प्रद्युम्न की हत्या की गुत्थी सुलझाने का दावा किया है। इस सिलसिले में सीबीआई पकड़े गए आरोपी छात्र को पूछताछ के लिए आज हेडक्वार्टर ले गई। सीबीआई वहां से आरोपी छात्र को मौका-ए-वारदात पर भी ले जा सकती है। बता दें कि गुरुग्राम के भोंडसी स्थित रेयान इंटरनेशनल स्कूल में प्रद्युम्न की हत्या मामले में सीबीआई ने उसी स्कूल के 11वीं के छात्र पर हत्या का आरोप लगाया। फिलहाल जुवेनाइल बोर्ड ने नाबालिग आरोपी को तीन दिन की सीबीआई हिरासत दी है।

बुधवार को सीबीआई ने बताया कि परीक्षा और पीटीएम (पेरेंट्स-टीचर मीटिंग) टालने के लिए प्रद्युम्न के सीनियर ने स्कूल में उसकी हत्या कर दी। खून से लथपथ प्रद्युम्न स्कूल के बाथरूम के बाहर मिला था, जिसके बाद उसे अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

उदंड है आरोपी छात्र
प्रद्युम्न मर्डर केस में पकड़े गए छात्र का एक साल से मानसिक इलाज चल रहा है। वह बहुत ही बदमाश और उद्दंड किस्म का छात्र है। उसके साथ पढ़ने वाले कुछ छात्रों का आरोप है कि वह हमेशा मारपीट पर उतारू रहता था। स्कूल बैग में चाकू लाता था। इतना ही नहीं स्कूल में पोर्न फिल्म भी देखता था।

प्रद्युम्न के पिता ने की रेयान के मालिकों पर जांच की मांग
प्रद्युम्न के पिता ने सीबीआई की जांच पर भरोसा जताया है, लेकिन रेयान स्कूल के मालिकों के खिलाफ भी जांच की मांग की है। प्रद्युम्न के साथ पढ़ने वाले बच्चों ने किसी भी बात के पता होने से इनकार किया है।

इसलिए कर दी हत्या
सीबीआई ने बताया कि आरोपी मानसिक रूप से कमजोर है और उसका इलाज भी चल रहा था। वह पढ़ाई में कमजोर और स्वभाव से तुनकमिजाज भी था। उसने कथित तौर पर प्रद्युम्न का गला इसलिए रेता, ताकि स्कूल में छुट्टी घोषित हो जाए। पीटीएम तथा परीक्षा टल जाए।


ऐसे आया पकड़ में
जांच एजेंसी का दावा है कि इस छात्र पर शक सीसीटीवी फुटेज देखने के बाद हुआ।  11वीं के सभी छात्रों से पूछताछ की गई। फुटेज में किसी का चेहरा साफ नहीं था। पूछताछ के बाद चार छात्रों के नाम सामने आए। फिर उन चारों से पूछताछ में इस छात्र का नाम सामने आया। सीबीआई का यह भी दावा है कि 15 दिनों की पूछताछ के बाद आखिरकर जुर्म कबूल कर लिया।

कंडक्टर को क्लीनचिट:
सीबीआई को बस कंडक्टर अशोक कुमार के खिलाफ कोई सबूत नहीं मिला है। जिस दिन यह घटना हुई उसी दिन गुरुग्राम पुलिस ने स्कूल के बस कंडक्टर अशोक कुमार को अपराध के संदेह में गिरफ्तार कर लिया था। एजेंसी को यौन हमले का कोई साक्ष्य भी नहीं मिला है।

हथियार बरामद:
सीबीआई के प्रवक्ता अभिषेक दयाल ने कहा कि हत्या में इस्तेमाल हुआ हथियार, एक चाकू, उस शौचालय के कमोड में मिला है जहां कथित तौर पर हत्या हुई थी। यह वही चाकू है जो गुरुग्राम पुलिस ने बरामद किया था।

ऐसे जोड़ी कड़ियां
सीसीटीवी फुटेज, फॉरेंसिक और वैज्ञानिक जांच-पड़ताल, स्कूल के छात्रों, शिक्षकों और अन्य स्टाफ से पूछताछ और अपराध स्थल के विश्लेषण के आधार पर सीबीआई अपराध की कड़ियां जोड़ पाई।

...कोई और हो सकता था शिकार
सीबीआई के प्रवक्ता दयाल ने बताया कि ग्यारहवीं कक्षा के छात्र ने हत्या की साजिश आठ सितंबर को ही बना ली थी। लेकिन उसने यह तय नहीं किया था किसको मारेगा। सूत्रों के मुताबिक संयोग से प्रद्युम्न शौचालय में पहुंच गया और सीनियर छात्र की साजिश का शिकार बन गया। जांच अभी भी जारी है।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया