प्रद्युम्न मर्डर केस: नाबालिग आरोपी छात्र ने कहा, सीबीआई ने डरा-धमकाकर कुबूल कराया जुर्म

Updated on: 14 November, 2019 05:27 AM

गुरुग्राम के रेयान इंटरनेशनल स्कूल में सात वर्ष के छात्र प्रद्युम्न ठाकुर के मर्डर के नाबालिग आरोपी की मानें तो उससे जुर्म कुबूल कराया गया है। सोमवार को आरोपी ने सीबीआई अधिकारियों और चाइल्ड प्रोटेक्शन यूनिट के कुछ कानूनी अधिकारियों के सामने दावा किया कि जांचकर्ताओं ने उस पर जुर्म कुबूल करने का दबाव डाला था। सूत्रों की ओर से इस बात की जानकारी दी गई। आरोपी ने जांचकर्ताओं पर आरोप लगाया कि उसे पीटा गया और फिर उसके कुबूलनामे को उन्होंने अपने शब्दों में रिकॉर्ड किया। हालांकि सीबीआई की ओर से इस पर किसी भी तरह की कोई टिप्पणी करने से साफ इनकार कर दिया।

सोमवार को पहुंचे थे परिवार के सदस्य
सूत्रों के मुताबिक जब टीम फरीदाबाद स्थित सुधार गृह पहुंची तो वहां पर आरोपी के परिवार के कई सदस्य मौजूद थे। सीबीआई अधिकारियों ने इस बात का पता लगाने की वाकई परिवार के सदस्य फरीदाबाद में मौजूद थे और उन्होंने आरोपी से मुलाकात तो नहीं की, सीसीटीवी की फुटेज मांगी गई थी। सुधार गृह में सोमवार को किसी को मिलने की मंजूरी नहीं है। परिवार के सदस्य सिर्फ मंगलवार और शुक्रवार को ही मिल सकते हैं। विशेषज्ञों की मानें तो पुलिस अधिकारी के सामने दर्ज कराए गए बयान को सुबूत नहीं माना जा सकता है। लेकिन अगर इसी बयान के आधार पर आरोपी का अपराध से कोई संबंध होता है तो फिर बयान की वैधता बढ़ जाती है।

अलग-अलग बातें कह रहा आरोपी
विजिटिंग टीम के सामने आरोपी ने अलग ही तरह की बातें कहीं हैं और ये सारी बातें जांचकर्ताओं को बताई गई बातों से अलग हैं। आरोपी ने बताया था कि घटना वाले दिन वह अपनी दादी के साथ घर के पास स्थित मंदिर में श्राद्ध की प्रार्थना के लिए गया था। वह करीब आठ बजे स्कूल पहुंचा था और उसके एक दोस्त ने उसे वॉटर कूलर के पास इंतजार करने को कहा था। उसने दो मिनट तक अपने दोस्त का इंतजार किया फिर जब वह नहीं आया तो म्यूजिक रूम में अपनी टीचर से मिलने चला गया जिनके पिता का हाल ही में निधन हुआ था। म्यूजिेक रूम बंद था और वह वापस आ गया लेकिन उसका दोस्त तब तक नहीं आया था। फिर वह वॉशरूम की तरफ गया जहां पर एक लड़का खून की उल्टी कर रहा था। वह बाहर आया और उसने माली हरपाल को इसके बारे में बताया। इसके बाद उसने उस लड़के के बारे में अपने टीचर को बताया।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया