साइबर स्पेस कॉन्फ्रेंस : डिजिटल तकनीक से लोगों तक पहुंची हैं सुविधाएं-पीएम मोदी

Updated on: 16 September, 2019 02:49 AM

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज यहां वैश्विक साइबर स्पेस सम्मेलन के उद्घाटन के मौके पर इस संबंध में घोषणा करेंगे। इस एप के लॉन्च से पहले पीएम मोदी ने साइबर स्पेस सम्मेलन में कहा कि हमें पता है किस तरह साइबर स्पेस ने पूरे देश को बदला है और 90 के दशक से अब तक तक काफी बदलाव आए हैं। भारत का आईटी टैलेंट पूरे देश में जाना जा रहा है। उन्होंने कहा कि टेक्नोलोज़ी हर बंधन को तोड़ता है, आधार एक विशिष्ट पहचान है हमारे देश में। जनधन अकाउंट,आधार,मोबाइल ने देश में भ्रष्टाचार काम किया। सार्वजनिक धन के लिए डिजिटल तंत्र ने प्रभावी काम किया है।

एक ही मंच पर सारी सुविधाएं
पीएम मोदी ने कहा डिजिटल टेक्नोलॉजी सबको समानता पर लाने की बड़ी क्षमता रखती है और इसने सेवाओं को लोगों तक पहुंचाने, प्रशासन में सुधार और शिक्षा से ले कर स्वास्थ्य तक के क्षेत्र में कारगर मदद की है। इसी कॉन्फ्रेंस में केंद्र सरकार ने एक ही मंच पर 200 से ज्यादा सरकारी सुविधाएं मुहैया कराने के लिए ‘उमंग’ एप को लॉन्च करने जा रही है। ‘उमंग’(यूनाफाइड मोबाइल एप्लिकेशन फॉर न्यू-एज गवर्नेंस) के जरिए पासपोर्ट, पैन कार्ड के लिए आवेदन कर सकेंगे। साथ ही ईपीएफ समेत अन्य सरकारी सेवाओं व अन्य सुविधाओं का लाभ भी इसके जरिए उठा सकेंगे। यहां ऐरो सिटी में होने वाले दो दिवसीय सम्मेलन में 10,000 विदेशी विशेषज्ञ, अधिकारी व मंत्री व्यक्तिगत और वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए शामिल हो रहे हैं। इसमें 2000 तो वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए ही शामिल होंगे। ‘उमंग’ एप के जरिए सरकारी सुविधाओं के लिए अलग-अलग एप डाउनलोड करने की जरूरत नहीं पड़ेगी। पहले यह एप गूगल बेटा वर्जन था, अब इसे सार्वजनिक किया जाएगा।

उंगलियों पर होंगी ये सरकारी सुविधाएं
स्वास्थ्य : स्वास्थ्य सेवाओं के लिए ऑनलाइन पंजीकरण
किसान : फसल बीमा, मृदा स्वास्थ्य कार्ड व एग्मार्कनेट, किसान सुविधा, अन्नपूर्णा कृषि प्रसार सेवा
शिक्षा : राष्ट्रीय छात्रवृत्ति,  ई-पाठशाला, एआईसीटीई, केंद्रीय विद्यालय
युवा : प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना
घरेलू सुविधाएं :  गैस बुकिंग
पेंशन : जीवन प्रमाण, नेशनल पेंशन योजना आदि

पैन व आधार के लिए आवेदन
‘उमंग’ एप के जरिए पैन कार्ड, पासपोर्ट और आधार कार्ड के लिए आवेदन कर सकेंगे।
अन्य सुविधाएं : महिला सुरक्षा, अपराध और अपराधियों की ट्रैकिंग, ई-पोस्ट, आयकर भुगतान, वाणिज्य कर, पीएफ, रेलवे, एनपीएस, ई-राही, ई-माइग्रेट, जीवन प्रमाण पत्र आदि।

घर बैठे निकाल सकेंगे पीएफ
सरकार की मानें तो ‘उमंग’ एक मास्टर एप होगा। इसके माध्यम से आप अपने पीएफ से पैसा भी निकाल सकते हैं। इससे देश के 4 करोड़ से ज्यादा लोगों को लाभ होगा। इस एप के जरिए आप अपने पीएफ और एनपीएफ की राशि को भी देख सकेंगे।

दस्तावेज भी रख सकेंगे सुरक्षित
‘उमंग’ एप के जरिए उपयोगकर्ता अपने डिजिटल दस्तावेज और प्रमाण पत्र सरकारी कामों के लिए भेज सकते हैं और अपने खाते में इन दस्तावेजों को सुरक्षित भी रख सकेंगे।

 मोबाइल और आधार से लॉगिन
‘उमंग’ एप में लॉगिन सुविधा सिर्फ मोबाइल नंबर या आधार नंबर से उपलब्ध है। इसमें लॉगिन करने के लिए भी ओटीपी (वन टाइम पासवर्ड) की जरूरत होगी।

‘उमंग’ की खास बातें
--13 क्षेत्रीय भाषाओं में उपलब्ध
--1200 से ज्यादा अहम सेवाएं एप पर उपलब्ध होंगी 3 साल के भीतर
--आधार, डिजीलॉकर और पेमेंट गेटवे के साथ एकीकरण
--15 एमबी जगह ही लेता है यह एप
--फीचर फोन, टैबलेट और डेस्कटॉप पर भी उपयोग संभव
--सुबह 8 बजे से शाम 8 बजे तक ग्राहक सेवा सहयोग


कैसे करें उपयोग
-गूगल प्ले स्टोर पर जाकर ‘उमंग’ डाउनलोड करें
-अपना प्रोफाइल बनाएं और अपडेट करें
-श्रेणियों व सेवाओं को क्रमबद्ध व फिल्टर करें

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया