शपथ ग्रहण: समारोह के दौरान बोले मंडलायुक्त, 'नगर निगम के घोटालों की होगी जांच'

Updated on: 21 April, 2019 04:19 PM

मेरठ मंडल के मंडलायुक्त डॉ. प्रभात कुमार ने कहा है कि गाजियाबाद नगर निगम में विगत सालों में जो भी घोटाले हुए हैं, उनकी जांच होगी। साथ ही यह सुनिश्चित भी किया जाएगा कि विकास प्राधिकरणों और नगर निगम या नगर पालिकाओं में विकास कार्यों के नाम पर होने वाले घोटाले फिर से ना हों।

मंडलायुक्त मंगलवार को गाजियाबाद के घंटाघर रामलीला मैदान में आयोजित मेयर और पार्षदों के शपथ ग्रहण समाराह में शामिल होने आए थे।

मेयर और पार्षदों ने ली शपथ
उन्होंने मंच से ही सभी अधिकारियों व कर्मचारियों को अपनी कार्यप्रणाली में सुधार लाने की हिदायत दी। इससे पहले उन्होंने मेयर आशा शर्मा को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। बाद में मेयर ने सभी 100 नव निवार्चित पार्षदों को शपथ दिलाई।

इस मौके पर विदेश राज्य मंत्री व स्थानीय सांसद जनरल वीके सिंह ने सभी को बधाई देते हुए कहा कि जनता ने बड़ी उम्मीदों से आपको चुना है। लिहाजा बेहतर काम करके लोगों की उम्मीदों पर खरा उतरें। इस अवसर पर भाजपा के वरिष्ठ नेता व निकाय चुनाव के प्रभारी रमापति राम त्रिपाठी, अजय शर्मा, अशु वर्मा समेत सैकड़ों भाजपाई व दूसरे दलों के समर्थक मौजूद थे।
 

नगर निगम में हो चुके हैं कई घोटाले
'डस्टबिन घोटाला, एलईडी घोटाला, अवंतिका सोसाइटी हैंडओवर घोटाला और कंप्यूटर घोटाले नगर निगम में हो चुके हैं। इन सभी में जांच के नाम पर खाना पूर्ति हुई है।' मंडलायुक्त के इस बयान के बाद जांच नए सिरे से होगी। मंडलायुक्त ने जीडीए में केबल घोटाला की जांच शुरू करा दी है। इसके अलावा गाजियाबाद में दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे मे गलत तरीके से जमीन खरीदकर करोड़ों का मुआवजा लेने का मामला भी सामने आया है। इसकी जांच एसआईटी कर रही है।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया