पाकिस्तान: हाफिज सईद ने डोनाल्ड ट्रंप को मुसलमान विरोधी तो इजरायल को कैंसर बताया

Updated on: 25 August, 2019 12:06 AM

मोस्ट वांटेंड आतंकी हाफिज सईद ने इस बार अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और इजरायल के खिलाफ जहर उगला है। हाफिज सईद  येरूशलम के मुद्दे पर और फिलीस्तीन के भविष्य को लेकर अमेरिका और इजरायल के खिलाफ कई बातें कही हैं। आपको बता दें कि हाफिज को अमेरिका और यूनाइटेड नेशंस (यूएन) दोनों की ओर से आतंकी घोषित किया गया है।

ट्रंप को दी चेतावनी
आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के फाउंडर और जमात-उद-दावा के चीफ हाफिज ने इजरायल की राजधानी यरूशलम घोषित करने पर डोनाल्ड ट्रंप को मुसलमान विरोधी बताया है। हाफिज ने लाहौर और कराची दोनों जगहों पर ट्रंप से जुड़े बयान दिए हैं। हाफिज ने ट्रंप को चेतावनी दी है कि इजरायल को यरूशलम की राजधानी के तौर पर चिन्हित करने के उनके फैसले से दुनियाभर के मुसलमानों खासतौर पर मिडिल ईस्ट में मुसलमानों के खिलाफ गुस्सा भड़क सकता है। 23 नवंबर को हाफिज सईद को कोर्ट के आदेश के बाद नजरबंदी से रिहा किया गया है। सईद ने शुक्रवार को लाहौर की मरकज अल कदसिया और गुंजरवाला में मरकज अक्सा में हुई प्रार्थना सभाओं में अमेरिका विरोधी प्रदर्शनों की अगुवाई की।

इजरायल को कहा कैंसर
12 दिसंबर को कराची में उसने बयान दिया था कि अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार संस्थाओं को फिलीस्तीन और दुनिया के दूसरे हिस्सों में मुसलमानों को दबाने के लिए जो कोशिशें हो रही हैं, उन पर ध्यान देना होगा। सईद और उसकी संस्था जेयूडी को यूएन ने बैन किया हुआ है तो अमेरिका ने सईद के सिर पर 10 मिलियन डॉलर का इनाम रखा है। लाहौर में अल कदसिया मस्जिद में एक प्रतिनिधिमंडल के साथ बातचीत में इजरायल को एक ऐसे कैंसर के तौर पर बताया जो फिलीस्तीन में बसे मुसलमानों को करीब आधे दशक से भी ज्यादा समय से प्रभावित कर रहा है। सईद के इस बयान से साफ है कि पाकिस्तान की सरकार हाफिज सईद जैसे आतंकियों को रोकने में नाकामयाब रही है।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया