सर्दी और कोहरे का कहर: 500 फ्लाइट्स और 400 ट्रेनें लेट, दिल्ली समेत पूरा उत्तर भारत ठिठुरा

Updated on: 17 July, 2019 12:39 AM

नए साल के आगाज के साथ देश के उत्तरी भागों में ठंड और कोहरे ने भी अपना रंग दिखाना शुरू कर दिया है। कोहरे का असर उड़ानों पर पड़ा है। उत्तर भारत के पहाड़ी राज्यों में कंपकंपाती ठंड का प्रकोप जारी है जबकि मैदानी इलाको में भारी कोहरे के कारण विमान, सड़क और रेल सेवा पर जबरदस्त असर पड़ा। जम्मू कश्मीर और हिमाचल प्रदेश ठंड की गिरफ्त में हैं, जहां न्यूनतम तापमान जमाव बिंदु से कई डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया । 

कोहरे की वजह से ट्रेन और फ्लाइट्स पर असर
मंगलवार को दिल्ली आने वाली और दिल्ली से टेक ऑफ करने वाली 20 फ्लाइट्स लेट रहीं और छह को कैंसिल कर दिया गया। वहीं, दिल्‍ली आने वाली ट्रेंने 64 ट्रेंने लेट, 24 का समय बदला गया और 21 ट्रेन कैंसिल नए साल में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, उत्तरप्रदेश और नयी दिल्ली में भी ठंड का प्रकोप रहा। कोहरे की वजह से क्षेत्र में जन-जीवन पर और ज्यादा असर पड़ा। भीषण कोहरे की वजह से करीब 400 ट्रेनें देरी से चल रही हैं जिसकी वजह से हजारों लोग जगह जगह फंस गए। घने कोहरे की वजह से दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय (आईजीआई) हवाई अड्डे पर 500 से अधिक उड़ानों में देरी हुई और 23 उड़ानें रद्द कर दी गईं। दिल्ली आने - जाने वाली लगभग सभी उड़ानें प्रभावित रहीं। करीब 453 घरेलू और 97 अंतरराष्ट्रीय उड़ानों में देरी हुई। दिल्ली में मंगलवार को न्यूनतम तापमान सात डिग्री सेल्सियय तक पहुंच गया।

नोएडा में स्कूल चार जनवरी तक बंद
दिल्ली में पड़ रही कड़ाके की ठंड और कोहरे के कारण गौतमबुद्ध नगर के जिलाधिकारी (डीएम) ने दो जनवरी से चार जनवरी तक नर्सरी से आठवीं कक्षा तक के सभी सरकारी तथा निजी स्कूलों को बंद करने का आदेश दिया है। यह जानकारी जिला सूचना अधिकारी राकेश चौहान ने दी। उन्होंने बताया कि गौतमबुद्ध नगर में पड़ रही कड़ाके की ठंड की वजह से छोटे बच्चों को स्कूल जाने में काफी असुविधा हो रही है इसलिए जिलाधिकारी बृजेश नारायण सिंह ने जिले के सभी स्कूलों में नर्सरी से आठवीं कक्षा तक के छात्रों की छुट्टी करने का आदेश दिया है।  उन्होंने बताया कि जो स्कूल जिला प्रशासन के आदेशों का उल्लंघन करते हुए पाया जाएगा, उसके खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

उत्तर प्रदेश में भी राहत नहीं
दूसरी तरफ उत्तर प्रदेश में ठिठुरन भरी सर्दी जारी है और अभी दो-तीन दिन तक कड़ाके की ठंड से राहत की उम्मीद भी नहीं है। राज्य के विभिन्न हिस्सों में बादल छाये रहने और बर्फीली हवा चलने से जनजीवन पर असर पड़ा है। मौसम विभाग के मुताबिक प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में बर्फीली हवा चलने से दिन के तापमान में लगातार गिरावट देखी जा रही है। बादल छाये रहने से सर्दी की तीव्रता और बढ़ गई है। अभी दो-तीन दिन तक धूप निकलने के आसार कम हैं और एक सप्ताह तक बारिश की सम्भावना नहीं है, लिहाजा धुंध और कोहरे का सिलसिला जारी रह सकता है।  उन्होंने बताया कि न्यूनतम तापमान में गिरावट की सम्भावना नहीं है, हालांकि दिन का तापमान कुछ और गिर सकता है।

बिहार में साल का पहला दिन रहा सबसे ठंड
सर्दी के मौसम में सोमवार इस सीजन का सबसे ठंडा दिन रहा। साल की पहली तारीख को उत्तर बिहार में इस सीजन का अभी तक का सबसे कम अधिकतम और न्यूनतम तापमान रिकॉर्ड किया गया। जानलेवा हुई सर्दी के कारण जिले में पांच और लोगों की मौत हो गई। इधर, डॉ राजेंद्र प्रसाद केंद्रीय कृषि विश्वविद्यालय पूसा ने सोमवार को अधिकतम तापमान 13.5 डिग्री जबकि न्यूनतम 8.1 डिग्री रिकॉर्ड किया। इससे पहले सबसे कम अधिकतम तापमान 26 दिसंबर को 14.7 डिग्री रिकॉर्ड किया गया था, जबकि सबसे कम न्यूनतम तापमान 24 दिसंबर को 8.2 डिग्री रिकॉर्ड किया गया था। 31 दिसंबर की अपेक्षा अधिकतम तापमान में 2.7 डिग्री जबकि न्यूनतम तापमान में 1.3 डिग्री का गिरावट आयी। 31 दिसंबर को अधिकतम तापमान 16.2 डिग्री जबकि न्यूनतम तापमान 9.4 डिग्री रिकॉर्ड किया गया था।

घाटी से लेकर पंजाब तक लोग ठिठुरे
जम्मू कश्मीर में भी ठिठुरन जारी और यहां श्रीनगर में तो रात के समय न्यूनतम तापमान शून्य से 4.4 डिग्री सेल्सियस नीचे चला गया । लद्दाख के लेह में तापमान सबसे कम, शून्य से 14.5 डिग्री नीचे दर्ज किया गया। भारी कोहरे की वजह से हरियाणा और पंजाब में दृश्यता स्तर घटने से जनजीवन प्रभावित हुआ और कई जगहों पर यह शून्य के स्तर पर चला गया। मौसम विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि हरियाणा के हिसार में तापमान 1.6 डिग्री सेल्सियस तक दर्ज किया गया था। चंडीगढ़ में न्यूनतम तापमान 8.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया । पंजाब में बठिंडा सबसे सर्द स्थान रहा। लुधियाना (4.2) और फरीदकोट (4) भी ठंड की चपेट में है।  

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया