राज्यसभा में फिर गूंजा भीमा कोरेगांव हिंसा का मुद्दा, अटक सकता है तीन तलाक बिल

Updated on: 21 November, 2019 04:53 AM

पांच जनवरी को संसद का शीतकालीन सत्र खत्म होने वाला है और इससे पहले राज्यसभा में तीन तलाक बिल को पास कराना सरकार के लिए टेढ़ी खीर बना हुआ है। 28 दिसंबर को लोकसभा में पास हो चुके इस बिल के लिए अब राज्यसभा में पास होना काफी जरूरी है। सूत्रों की ओर से जो जानकारी आ रही है उसके तहत सरकार इस बिल को सेलेक्ट कमेटी के पास भेज सकती है। साथ ही सरकार इस बिल पर चार घंटे तक चर्चा भी करा सकती है। विपक्ष इन दोनों मांगों पर अड़ा हुआ है।

तृणमूल कांग्रेस के नदीमउल हक ने राजनीतिक कारणों से होने वाली मौत को रोकने की मांग की। वहीं बीजू जनता दल के दिलीप तिर्के ने पूरे भारत में इस तरह की हिंसा को रोकने की मांग की है। कांग्रेस के नेता रजनी पाटिल और सपा नेता नरेश अग्रवाल ने भीमा कोरेगांव हिंसा पर रिपोर्ट की मांग की है।

 

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया