BSF ने 9000 गोले दाग उड़ाई पाकिस्तानी चौकियां और तेल डिपो

Updated on: 16 November, 2019 08:21 AM

सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) ने जम्मू में अंतरराष्ट्रीय सीमा पर पाकिस्तान की तरफ से बिना उकसावे के किये जा रहे संघर्षविराम का मुंहतोड़ जवाब दिया है। पाकिस्तान के खिलाफ 'सटीक जवाबी कार्रवाई' करते हुए पिछले चार दिनों में बीएसएफ ने मोर्टार के 9000 ये ज्यादा गोले दागे। इस दौरान कई जगहों पर दुश्मन की चौकियों और पाकिस्तानी रेंजर्स के तेल डिपो को तबाह किया गया। बीएसएफ और गृह मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों ने कहा कि जम्मू से लगी 190 किलोमीटर की अंतरराष्ट्रीय सीमा का इलाका ''बेहद तनावपूर्ण है क्योंकि पाकिस्तान रविवार शाम से ही इस समूचे इलाके में भारी फायरिंग कर रहा है।'

उन्होंने कहा कि बीएसएफ ने 19 जनवरी से अब तक मोर्टार के करीब 9000 गोले दागे हैं। पाकिस्तान द्वारा इलाके की शांति भंग करते हुए बीएसएफ की चौकियों और नागरिक इलाकों को निशाना बनाया गया था। सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) ने कहा कि पाकिस्तान द्वारा किये जा रहे बार-बार संघर्षविराम उल्लंघन के जवाब में उसने सोमवार को अंतरराष्ट्रीय सीमा पर कई जगह उसकी चौकियों पर भारी गोलीबारी कर तबाह कर दिया।

बीएसएफ के एक प्रवक्ता ने कहा, ''पाकिस्तान द्वारा जम्मू में अंतरराष्ट्रीय सीमा पर बिना उकसावे के की जा रही फायरिंग का बीएसएफ उपयुक्त और सटीक जवाब दे रही है। सीमा सुरक्षा बल द्वारा की जा रही सटीक फायरिंग में कई स्थानों पर दुश्मन के गोलीबारी के ठिकानों, गोलाबारूद और तेल डिपो को तबाह कर दिया गया।

प्रवक्ता ने दो छोटी वीडियो क्लिप्स भी जारी कीं जिनमें कथित तौर पर तेल डिपो को तबाह होते दिखाया गया है।

जम्मू में सीमा पर पाकिस्तान की तरफ से गुरुवार से की जा रही गोलीबारी में पांच सुरक्षाकर्मियों समेत 12 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 60 से ज्यादा लोग घायल हुये हैं।

बीएसएफ जवान की पूरे सैन्य सम्मान के साथ अंत्येष्टि
जम्मू कश्मीर में सीमा पार से हुई गोलीबारी में शहीद हुए बीएसएफ जवान लांस नायक सैम अब्राहम की मावेलिक्कारा (केरल) में उनके पैतृक नगर में पूरे सैन्य सम्मान के साथ अंत्येष्टि की गई। अब्राहम का पार्थिव शरीर बीती रात केरल लाया गया था और सोमवार को सुबह यहां लाया गया।

उनके पार्थिव शरीर को पहले स्कूल में रखा गया जहां उन्होंने पढ़ाई की थी और बाद में उनके घर ले जाया गया जहां उनके माता पिता, दो साल की बेटी और गर्भवती पत्नी ने उन्हें अंतिम विदाई दी। स्कूली बच्चों सहित काफी संख्या में लोगों ने उन्हें नम आंखों से विदाई दी। उनकी अंत्येष्टि सोमवार दोपहर सेंट ग्रेगोरियस आर्थोडोक्स चर्च कब्रिस्तान में की गई।  छठी मद्रास रेजीमेंट के सदस्य एवं 34 वर्षीय अब्राहम शुक्रवार को पाकिस्तानी सैनिकों की गोलीबारी में नियंत्रण रेखा पर सुंदेतबनी सेक्टर में शहीद हो गए थे।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया