कासगंज हिंसाः डीएम के समर्थन में आए मौलाना तौकीर रजा खां, बोले- जिहादी अफसर

Updated on: 16 October, 2019 11:15 AM

इत्तेहादे मिल्लत काउंसिल के अध्यक्ष मौलाना तौकीर रजा खां ने है डीएम की फेसबुक पोस्ट पर अपनी राय देते हुए प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि डीएम राघवेंद्र विक्रम सिंह एक जिहादी अफसर हैं, ऐसे अधिकारी बहुत कम लोग होते हैं, कुछ फिरकापरस्त ताकत है, जो माहौल बिगाड़ने चाहती है, इस तरह के अधिकारी जब तक हैं वह माहौल बिगड़ने नहीं देंगे।

मौलाना ने कहा कि 1 फरवरी को कासगंज जाएंगे, अगर किसी की हिम्मत है तो उनकी यात्रा रोक कर दिखाए। उन्होंने कासगंज मामले में दोषियों को सजा दिलाने की मांग उठाई है, साथ ही उन्होंने वंदे मातरम को लेकर सुप्रीम कोर्ट में एक रिट याचिका दायर करने की बात कही है। उन्होंने कहा कि वंदे मातरम में बदलाव कर फिर से नया राष्ट्रीय गीत बनाया जाए।

तीन तलाक कानून पर मौलाना तौकीर ने केंद्र सरकार का समर्थन करते हुए इसको जायज बताया है। उन्होंने कहा है कि शरीयत में तीन तलाक गुनाह है। सरकार का यह कदम मुसलमानों के लिए सही है। मौलाना ने अपने आवास पर पत्रकारों से रूबरू होकर कासगंज जाने का ऐलान किया है।

डीएम का पोस्ट

काशगंज  वायलेंस

डीएम की फेसबुक पोस्ट को लेकर सोशल मीडिया में सरकार की जमकर किरकिरी हो रही है। डीएम राघवेंद्र विक्रम सिंह ने लिखा है कि पदमावत नहीं देखेंगे, कहीं पसंद आ गई तो। तो अब पता लगा कि ये ओढ़ा हुआ हिंदुत्व है। क्या आज जैसे माहौल में कोई मुगले आजम बनाने की हिम्मत कर पाता।

‘पदमावत’ नहीं देखेंगे कहीं पसंद आ गई तो

डीएम की फेसबुक पोस्ट को लेकर सोशल मीडिया में सरकार की जमकर किरकिरी हो रही है। डीएम राघवेंद्र विक्रम सिंह ने लिखा है कि पदमावत नहीं देखेंगे, कहीं पसंद आ गई तो। तो अब पता लगा कि ये ओढ़ा हुआ हिंदुत्व है। क्या आज जैसे माहौल में कोई मुगले आजम बनाने की हिम्मत कर पाता।

डीएम की सबसे तीखी टिप्पणी ने भाजपा में भूचाल खड़ा कर दिया है। डीएम ने लिखा है कि जब कोई चाय वाला कोई नीच राष्ट्र नियंता बनेगा तो भयभीत हो रहे स्थापित स्वार्थी प्रभुत्व वर्गों में हादसे तो होंगे ही। इसके अलावा ये जज भी हम लोगों जैसे छोटे निकले।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया