बुलंदशहर कांड : गला दबाकर हत्या करने के बाद जलाए दोनों लड़कियों के शव

Updated on: 15 October, 2019 12:51 PM

बीबीनगर के गांव बांहपुर में रिश्ते की दो बहनों की हत्या की पुष्टि हो गई है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट से पता चला है कि दोनों की गला घोंटकर हत्या करने के बाद शवों को जलाया गया। हालांकि पोस्टमार्टम रिपोर्ट से दुष्कर्म की पुष्टि नहीं हो सकी है। जिसके चलते स्लाइड बनाकर जांच को भेजी गई हैं। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद पुलिस ने कई बिंदुओं पर जांच शुरू कर दी है। उधर, दोनों लड़कियों की हत्या के मामले में अज्ञात के खिलाफ हत्या कर साक्ष्य मिटाने के आरोप में रिपोर्ट दर्ज कराई गई है।

गांव बांहपुर निवासी गजेंद्र सिंह अपने पुत्र राहुल की शादी के सिलसिले में खरीदारी के लिए दिल्ली गए हुए थे। गांव में उनकी 23वर्षीय पुत्री शीलू और उनके साले की पुत्री शिवानी(24वर्ष) रह गए थे। शाम को दोनों लड़कियों के शव जली हुई हालत में घर के अंदर कमरे से बरामद हुए। इसके बाद परिजनों में कोहराम मच गया। पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। शुक्रवार शाम को पुलिस अधिकारियों को दोनों शवों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट प्राप्त हो गई। एसएसपी मुनिराज जी. ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में दोनों लड़कियों की गला घोंटकर हत्या कर शवों को जलाने की पुष्टि हुई है। किसी भी लड़की से दुष्कर्म की पुष्टि नहीं हो सकी है, जिसके चलते स्लाइड बनाकर जांच को भेजी गई है।

उधर, गुरुवार रात को पीड़ित गजेंद्र सिंह ने पुत्री शीलू और साले की पुत्री शिवानी की हत्या में अज्ञात हत्यारों के खिलाफ हत्या कर साक्ष्य मिटाने के आरोप में रिपोर्ट दर्ज कराई है। इसमें उन्होंने बताया है कि पुत्र राहुल की शादी के लिए कार्ड एवं अन्य खरीदरी के लिए दिल्ली गए थे। शाम को दिल्ली से लौटने के दौरान उन्हें फोन पर दोनों लड़कियों की हत्या और शव जले मिलने की सूचना मिली। एसएसपी ने बताया कि पुलिस रंजिश, प्रेम प्रसंग, ऑनर किलिंग समेत कई बिंदुओं पर जांच कर रही है। जल्द ही घटना का खुलासा कर दिया जाएगा।

आईजी ने किया घटनास्थल का निरीक्षण, परिजनों से ली घटना की जानकारी

लड़कियों की हत्या कर शव जलाने की घटना के बाद शुक्रवार को मेरठ जोन के आईजी रामकुमार ने गांव पहुंचकर घटनास्थल का निरीक्षण किया और पीड़ित परिजनों एवं ग्रामीणों से वार्ता कर घटना के बारे में जानकारी ली। आईजी ने जल्द ही घटना के खुलासे का आश्वासन दिया है। उधर, दोहरे हत्याकांड को लेकर दहशत का माहौल है।

बीबीनगर के गांव बांहपुर निवासी गजेंद्र सिंह के पुत्र राहुल की आगामी 18 फरवरी को शादी होनी है। सभी परिजन शादी की तैयारियों में लगे हुए थे। गुरुवार की सुबह गजेंद्र सिंह अपने परिजनों के साथ शादी के कार्ड एवं अन्य खरीदारी के लिए दिल्ली चले गए। घर पर उनकी पुत्री शीलू(23वर्ष) और हापुड़ के गांव दरियापुर निवासी उनके साले की पुत्री शिवानी(24वर्ष) रह गई थीं। शाम को दोनों लड़कियों के शव जली हालत में घर के अंदर से बरामद हुए। शुक्रवार को मेरठ जोन के आईजी रामकुमार ने घटनास्थल का निरीक्षण किया और परिजनों से बातचीत कर घटना की जानकारी ली।

पीड़ित गजेंद्र ने आईजी एवं अन्य अधिकारियों को बताया कि गुरुवार शाम के वक्त दिल्ली से लौटने के दौरान उनके फोन पर गांव के ही एक व्यक्ति का फोन आया, जिसने घर में आग लगी होने की जानकारी दी। इसके बाद अन्य लोगों ने भी कॉल की, जिससे पता चला कि घर के अंदर दोनों लड़कियों की अलग-अलग कमरों में जलाकर हत्या कर दी गई है। आईजी ने पीड़ित परिजनों को जल्द ही घटना के खुलासे का आश्वासन दिया। आईजी रामकुमार ने बताया कि पुलिस कई बिंदुओं पर जांच कर रही है। फोरेंसिक टीम ने भी कई साक्ष्य एकत्र किए हैं।

जल्द ही घटना का खुलासा कर दिया जाएगा।

गांव बांहपुर में दोहरे हत्याकांड के बाद तनाव एवं दहशत का माहौल देखते हुए पर्याप्त पुलिस एवं पीएसी बल तैनात किया गया है। शुक्रवार को गांव में बीबीनगर थाना के अलावा स्याना, अगौता, खानपुर आदि क्षेत्रों का भी पुलिस बल तैनात किया गया था। पुलिस के आला अधिकारी स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं।

फोन से खुलेगा दोहरे हत्याकांड का राज

दोहरे हत्याकांड ने पुलिस को पूरी तरह उलझा दिया है। अगर कहीं से कुछ उम्मीद की किरण नजर आ रही है तो वह दोनों मृतकाओं के फोन और कुछ संदिग्ध नंबरों की डिटेल है। पुलिस ने शिवानी के फोन को कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी है। गांव बांहपुर में हुए दोहरे हत्याकांड का राज फोन से खुलने की उम्मीद जताई जा रही है। दोहरे हत्याकांड का शिकार हुई एक युवती शिवानी मूलरूप से हापुड़ के गांव दरियापुर की रहने वाली थी और नजदीक के ही गांव बेनीपुर में एक स्कूल में पढ़ाती थी। इसी कारण शिवानी अक्सर अपने रिश्तेदार यानि फूफा गजेंद्र के घर रूक जाती थी। भाई राहुल की शादी के सिलसिले में पिछले कुछ दिनों से शिवानी गांव बांहपुर में ही रूक रही थी। गुरुवार को उसकी हत्या के बाद पुलिस ने जिस वक्त में शिवानी का शव बरामद किया, तो उसके कानों में फोन की लीड लगी हुई थी। ऐसे में उसके द्वारा या तो किसी से बातचीत की जा रही थी अथवा वह गाने सुन रही होगी। बिस्तर पर शिवानी का शव उल्टा पड़ा हुआ था। उसका मोबाइल बिस्तर से कुछ दूरी पर पड़ा बरामद हुआ है। वहीं दूसरे कमरे में मृत मिली शीलू का मोबाइल पुलिस को नहीं मिल सका है। जाहिर है कि ऐसे में पुलिस की पूरी उम्मीद शिवानी के मोबाइल और कुछ नंबरों की कॉल डिटेल रिकार्ड पर जाकर टिक गई है।

तीन बजे तक घर मौजूद थे नौकर

दोनों लड़कियों की हत्या के मामले में दर्ज एफआईआर में पीड़ित गजेंद्र ने बताया है कि शाम को सूचना मिलने के बाद दिल्ली से सीधे घर पहुंचे। उन्होंने बताया कि घर पर तीन बजे तक उनके नौकर भी मौजूद थे। नौकरों ने दोनों लड़कियों को काम करते हुए देखा। इसके बाद नौकर खेत पर ट्रैक्टर लेकर चले गए। आशंका है कि इसके बाद ही अज्ञात हत्यारों ने घर में घुसकर घटना को अंजाम दिया।

घर के अंदर बड़ा वीभत्स था नजारा

जिस वक्त पीड़ित गजेंद्र एवं अन्य परिजन गांव में घर के अंदर पहुंचे तो वहां का नजारा देखकर उनके पैरों तले जमीन खिसक गई। पीड़ित गजेंद्र के अनुसार घर पहुंचकर उन्होंने देखा कि शिवानी की लाश पूरी तरह जली हुई सामने के बरामदे में मुंह के बल बैड पर पड़ी हुई थी। उनके पहुंचने से पहले गांव वालों ने पानी डालकर आग को बुझा दिया था। शिवानी के गले में मोटरसाइकिल के क्लच की तार का कसकर फंदा बंधा हुआ था। बैड भी पूरी तरह से जला हुआ था। शिवानी के शव वाले बरामदे का टीवी ऑन था। वहीं उनकी पुत्री शीलू की लाश आगे वाले बरामदे में लकड़ी के तख्त पर जली हुई अवस्था में पड़ी थी। उसकी जीभ बाहर निकली हुई थी। शीलू की लाश जिस कमरे में थी, वहां दरवाजे की बाहर से कुंडी लगी हुई थी। प्लास्टिक की छोटी बोतल तख्त के पास फर्श पर पड़ी हुई थी।

पुलिस रंजिश, प्रेम प्रसंग, ऑनर किलिंग समेत कई बिंदुओं पर जांच कर रही है। जल्द ही घटना का खुलासा कर दिया जाएगा। तीन लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।-मुनिराज जी., एसएसपी

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया