यूएन: पाक ने फिर उठाया कश्मीर मुद्दा, कहा- 1948 रिजॉल्यूशन की समीक्षा करें

Updated on: 20 October, 2019 07:20 AM

जम्मू कश्मीर में सीमा पर बढ़ती तनानती के बीत पाकिस्तान ने एक बार फिर से संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में कश्मीर का राग अलापा है। साथ ही, उनके रिजॉल्यूशन में ‘सेलेक्टिव इम्प्लीमेंटेशन’ का आरोप लगाया है।

पाकिस्तान की तरफ से संयुक्त राष्ट्र में स्थायी प्रतिनिधि मलीहा लोधी ने मंगलवार को सत्र के दौरान संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की कार्यप्रणाली पर बोलते हुए कहा- “परिषद की साख पर सेलेक्टिव इम्प्लीमेंटेशन की वजह से जितना बट्टा लग रहा है उतना किसी और चीज से नहीं।”

मलीहा ने आगे कहा- परिषद को इसलिए समय-समय पर अपने रिजॉल्यूशन के इम्प्लिमेंटेशन की समीक्षा करते रहना चाहिए। खासकर, लंबे समय से लंबित पड़े मुद्दों के ऊपर जैसे- जम्मू कश्मीर। मलीहा लोधी ने कहा कि अगर परिषद अपने रिजॉल्यूशन को लागू करने में विफल रहता है तो इससे ना सिर्फ दुनिया के सामने परिषद कमजोर होगा बल्कि संयुक्त राष्ट्र पर भी उसका असर पड़ेगा।

मलीहा का संदर्भ उस 1948 काउंसिल रिजॉल्यूशन की ओर था जिसमें कश्मीर के भविष्य के निर्धारण के लिए जनमत संग्रह की बात कही गई है। इसके साथ ही, मलीहा ने पाकिस्तानी आदिवासी के भी वापसी की मांग की है जो वहां पर चले गए हैं। भारत ने कहा है कि आदिवासी पाकिस्तानी सेना के जवान थे जिसने कश्मीर को हड़पने की कोशिशें की थी।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया