यूपी का बजट सत्र: कार्यवाही शुरू होते ही विपक्ष का हंगामा, राज्यपाल पर फेंके कागज के गोले

Updated on: 19 October, 2019 11:06 AM

यूपी में विधानसभा का बजट सत्र गुरुवार से शुरू से हुआ। योगी आदित्यनाथ सरकार का पहला संपूर्ण बजट सत्र काफी हंगामेदार रहा। बजट सत्र शुरू होते ही विपक्ष ने हंगामा करना शुरू कर दिया। विधायक नारे लिख बैनर लेकर सदन के अंदर पहुंचे और जमकर नारेबाजी की। विपक्ष ने राज्यपाल वापस जाओ के नारे लगाए। अभिभाषण के दौरान समाजवादी पार्टी के लोगों ने राज्यपाल के ऊपर कागज के गोले फेंके। राज्यपाल राम नाईक ने हंगामे में ही अभिभाषण पढ़ना शुरू किया। विपक्ष के लिए राज्यपाल ने कहा कि आप सभ्य समाज के प्रतिनिधि है आपसे इस तरह के काम की उम्मीद नही है। उन्होंने कहा कि आप सभ्य समाज के व्यक्ति हैं यह प्रदर्शित करने का प्रयास करें।

विधानसभा का बजट सत्र आज राज्यपाल के अभिभाषण के साथ शुरू हो गया। राज्यपाल रामनाईक ने अपने अभिभाषण में कहा कि मेरी सरकार का मकसद सबका साथ सबका विकास करना है। मेरी सरकार निवेश बढ़ाने के लिये 21 व् 22 फरवरी को इन्वेस्टर्स समिट आयोजित की है। राज्यपाल ने कहा कि सरकार ने एंटी रोमियो व एंटी भूमाफिया स्क़वायड शुरू किया। गुंडों पर लगाम के लिये यूपी कोका का प्रावधान किया गया है। राज्यपाल के अभिभाषण के दौरान विरोधी दल हंगामा व् नारेबाजी करते रहे। कुछ सदस्यो ने लाल सफ़ेद गुब्बारे सदन में उछाल दिये। सपा के एक एमएलसी आलू की माला पहने कर आये थे। हंगामे के बावजूद राज्यपाल अपना भाषण पढ़ते रहे।

राज्यपाल ने अपने अभिभाषण में आगे कहा कि सरकार ने एंटी भूमाफिया के माध्यम से सरकारी जमीन पर अवैध रूप से कब्जा करने वाले लोगों को जेल पहुंचाया है। यूपी संगठित रूप से अपराध करने वाले लोगों के खिलाफ यूपी को का जैसा सख्त कानून लाया गया है। हमने उत्तर प्रदेश में बाहर स्तर पर भूमाफियाओं को चिन्हित किया और उनके ऊपर विधिसम्मत कार्रवाई की। राष्ट्रीय बीमा कानून के अंतर्गत बड़ी संख्या में लोगों को यूपी में बीमाकरण किया गया है।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया