ट्रक चालक की हत्या कर किये लूट का पर्दाफास

Updated on: 20 October, 2019 05:48 PM

चन्दौली.पुलिस ने बिगत माह के  8/9जनवरी की रात्रि में कटरिया के समीप हुई ट्रक चालक की हत्या कर किये लूट का पर्दापास कर घटना में शामिल दो आरोपी को गिरफ्तार कर हत्या में प्रयोग किये गये चोरी की बाईक व लोहे की राड़ बरामद किया है,जब कि घटना में शामिल एक अन्य आरोपी राजू  की तलाश के लिये उसके विभिन्न स्थानों पर छापेमारी कर रही है, फिरहाल पुलिस के चंगुल से आरोपी व्यक्ति बाहर है।
बुधवार की शाम पुलिस क्षेत्र में रूटीन गस्त कर रही थी,तभी पुलिस को मुखबिर सूचना से मिली कि बिगत माह में कटरिया के समीप ट्रक चालक की हत्या में शामिल दो युवक चोरी की बाइक से मवई तिराहे के समीप आ रहे है,मुखबिर की सूचना के आधार पर पुलिस ने अपना जाल बिछाते हुये युवको की तलाश में जुट गई,तभी कुछ समय के उपरान्त एक बाइक पर युवक आते दिखाई पड़े तो पुलिस ने शक के आधार पर युवको को रोकवा कर बाइक से सम्बंधित कागजो के बारे में पूछ-ताछ करने लगे,युवको के द्वारा वाहन से सम्बंधित कोई कागजात न होने के कारण पुलिस ने उन्हें पकड़कर थाने ले आयी,जहा पूछ-ताछ के दौरान युवको ने अपना नाम व पता नीरज मौर्य (उर्फ)मामू निवासी रामनगर वाराणसी व मुहम्मद सलीम पुत्र जहाँगिर अली निवासी गोलाघाट रामनगर वाराणसी बताया। कड़ाई से पूछ-ताछ के दौरान अभियुक्तो ने आगे बताया कि बिगत 5/6 जनवरी को रियाज (उर्फ) राजू को नशे की चस्का लगी तो और हम तीनो मुगलसराय जाने के लिये रामनगर से टेंगरामोड़ पहुँचे,जहा काफी समय तक वाहन का इंतजार करने के उपरान्त कोई साधन नही मिला तो,हम सभी वहा से नारायणपुर रोड के समीप स्थित एक हॉस्पिटल पहुंचकर एक TVS की बाइक पर हाथ साफ कर मुगलसराय की तरफ रवाना हुये, तभी रास्ते मे कटरिया के समीप एकांत जगह पर एक ट्रक को खड़ा देख हम सभी ने लूट की योजना बनाई,जिसमे राजू को मैंने रोड़ पर आने जाने वाले युवको पर निगाह रखने के ट्रक के बाहर खड़ा कर दिया,उसके उपरांत मैं व मुहम्मद सलीम ट्रक के अंदर प्रवेश करने के दौरान अचानक चालक की नीद खुल गयी,हम लोग अपने मंसूबे में नाकामयाब होता देख ट्रक में रखा राड़ को उठाकर चालक के सिर पर कई वार किये,जब उसकी मृत्यु हो जाने के बाद हम दोनों ने उसके जेब की तलाशी ली,तो उसके पर्स मिला जिसमे कुल 2500 रुपये नगदी, वोटर कार्ड,आधार कार्ड की फोटो कॉपी सहित कोई कागज मिले, हम तीनों आठ-आठ सौ रुपये आपस मे बाट कर पर्स झाड़ियों में फेंक दिया बाकि के सौ रुपये का हीरोइन खरीदकर पी ली।
नेशनल हाइवे पर 24 घंटे तक ट्रक के अंदर पड़ा रहा युवक का शव,पुलिस को नही था पता
 हत्या होने के बाद लगभग 24 घंटे तक पुलिस को घटना की भनक तक नही लग पाई थी,पुलिस को मामले की पता तब चली जब उक्त ट्रक मालिक की ट्रक को देखकर दुसरे ट्रक चालक कमलेश वर्मा ने ट्रक को रोककर शंकर का हाल चाल जानना चाहा।कमलेश के द्वारा कई बार आवाज देने के बाद जब ट्रक के अंदर से कोई आवाज नही आई,तब कमलेश में ट्रक के केबिन में झांककर देखा तो वह शंकर को केबिन के अन्दर खून से लस्त-पस्त  सन्न रह गया,और इसकी सूचना तत्काल मालिक को देते हुये, क्षेत्रिय पुलिस टीम को दी।  

टॉक टुडे न्यूज़ रिपोर्टर- पवन कुमार श्रीवास्तव 

 

 

 

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया