संवेदनहीनता: एंबुलेंस न मिलने से पीड़िता ने अस्पताल गेट पर तोड़ा दम

Updated on: 15 October, 2019 12:58 PM

एंबुलेंस कर्मियों की लापरवाही से सोमवार को एक महिला की मौत हो गई। एंबुलेंस न मिलने पर पति को अपनी बीमार पत्नी को ठेले पर अस्पलात ले जानी पडा। अस्पताल के गेट पर महिला की उपचार के अभाव में मौत हो गई।
 
मामला कोतवाली क्षेत्र के ग्राम हरिहरपुर का है। सोमवार को ग्रामवासी कन्हैया की पत्नी सोनी गंभीर रूप से बीमार हो गई। इस पर कन्हैया ने एंबुलेंस को बुलाने के लिए फोन लगाया। एंबुलेंस चालक ने कुछ देर में आने की बात कही। लेकिन वह एक घंटे तक नहीं पहुंचा। इसके बाद कन्हैया अपने पड़ोसी के ठेले पर ही पत्नी को लेकर अस्पताल पहुंचा पर इलाज मिलने से पहले ही अस्पताल के गेट पर उसकी पत्नी की मौत हो गई।
 
इसके बाद शव ले जाने के लिए भी जिला अस्पताल की ओर से एंबुलेंस नहीं दी गई। इस पर पीड़ित हाथठेले पर ही शव को 5 किमी वापस गांव ले गया। इस संबंध में अस्पताल के अधिकारी कुछ भी बोलने के लिए तैयार नहीं है।
ये प्रकरण मेरी जानकारी में आया है। इस मामले की जांच कराई जा रही है, जो भी दोषी होगा। कड़ी कार्रवाई होगी।
-प्रदीप कुमार, जिलाधिकारी

महिला की मौत अस्पताल में नहीं हुई। वो मृत अवस्था मे अस्पताल लाई गई थी। आरोप सही नही है। कन्हैया ने किस एंबुलेंस को किस समय फोन लगाया उसकी जांच कर रहे हैं। जो भी दोषी मिलेगा कार्रवाई की जाएगी।
-डॉक्टर आरके सागर, सीएमएस, जिला अस्पताल, मैनपुरी
 

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया