CBSE पेपर लीक : गुस्साए छात्रों ने CBSE ऑफिस के बाहर किया प्रदर्शन

Updated on: 16 September, 2019 02:53 AM

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) का पेपर लीक होने के मामले में छात्रों का गुस्सा अब भी शांत नहीं हो रहा है।  सीबीएसई 10वीं का गणित का पेपर और 12वीं का अर्थशास्त्र का पेपर दोबारा कराने को लेकर छात्र लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं। हालांकि छात्रों के प्रदर्शन के बाद सरकार फैसला किया है कि अब दसवीं  के गणित की परीक्षा दोबारा पूरे देश में नहीं होगी। यह परीक्षा दिल्ली और हरियाणा में फिर से हो सकती है।

सरकार के इस फैसले के बाद भी छात्रों का कहना है कि बोर्ड की लापरवाही की सजा हम क्यों भुगतें? छात्रों की कहना है कि या तो सभी विषयों के पेपर दोबारा होने चाहिए या फिर इन दोनों विषयों के पेपर भी दोबारा ना हों। वहीं 12वीं की अर्थशास्त्र की परीक्षा दोबारा कब होगी इसकी तारीख का भी ऐलान कर दिया गया है। 12वीं की अर्थशास्त्र की परीक्षा पूरे देश में 25 अप्रैल को होगी। लेकिन इन सबके बावजूद छात्र लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं।

Live Update:

- 10वीं के मैथ्स के पेपर जुलाई में कराए जा सकते हैं

- सीबीएसई ऑफिस के बाहर छात्रों ने किया प्रदर्शन

- गुस्साए छात्रों का कहना है कि क्या गारंटी है कि पेपर दोबारा लीक नहीं होगा

- दिल्ली के प्रीत विहार में छात्रों ने किया प्रदर्शऩ

- छात्रों के प्रदर्शन की वजह से प्रीत विहार में लगा जाम

-शुक्रवार के छात्रों ने प्रकाश जावड़ेकर के घर के बाहर किया था प्रदर्शन

- इससे पहले छात्रों ने दिल्ली के जंतर मंतर पर किया था प्रदर्शन।

खुलासाः 22 व्हाट्सएप ग्रुप के जरिये 700 लोगों तक पहुंचा CBSE लीक पेपर

उधर सीबीएसई पेपर लीक सामने आने के बाद देश भर में हुए छात्रों के प्रदर्शन के बाद सरकार ने अपना फैसला वापस ले लिया है। अब दसवीं कक्षा के गणित की पुनर्परीक्षा पूरे देश में नहीं होगी। हालांकि यह परीक्षा दिल्ली और हरियाणा में फिर से हो सकती है। वहीं 12वीं के अर्थशास्त्र के पेपर को 25 अप्रैल को आयोजित कराने का निर्णय लिया गया है। अर्थशास्त्र की परीक्षा पूरे देश में आयोजित होगी।

केंद्रीय शिक्षा मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने ट्वीट कर कहा कि दिल्ली और हरियाणा में जांच जारी है, अगर जांच में बड़े स्तर पर लीक की बात सामने आती है तो दसवीं की पुनर्परीक्षा होगी। इसमें कोई भ्रम नहीं होना चाहिए।  मंत्री ने साफ कहा कि 16 लाख छात्रों में अब 14 लाख से अधिक छात्रों को दसवीं की पुनर्परीक्षा नहीं देनी होगी। यह हमारा अंतिम निर्णय है।

जम्मू-कश्मीर, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश ,पंजाब, चंडीगढ़, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, बिहार, पश्चिम बंगाल, उत्तर पूर्व के राज्य, झारखंड, ओडिशा, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, कर्नाटक, तमिलनाडु, पुडुचेरी, अंडमान, लक्ष्यद्वीप, केरल, गोवा, महाराष्ट्र, गुजरात, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ में 10वीं के गणित की परीक्षा दोबारा नहीं होगी।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया