भारत बंद : मेरठ में दलित आंदोलन भड़का, पुलिस और पत्रकारों पर हमला, बस और चौकी फूंकी

Updated on: 21 April, 2019 04:22 PM

एससी-एसटी एक्ट में संशोधन के विरोध में सोमवार को बुलाए गए भारत बंद का असर मेरठ में भी देखने को मिल रहा है। यहां कंकरखेड़ा क्षेत्र के 400 से 500 दलित युवक हाथों में लाठी डंडे और हथियार लेकर प्रदर्शन करते हुए सड़क पर उतर आए और जमकर बवाल कर दिया। इस दौरान कुछ उग्र प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर भी हमला कर दिया। इसके साथ ही पत्रकारों के कैमरे भी तोड़ दिए। वहीं, रोहटा फ्लाईओवर पर गोलीबारी और बसें फूंके जाने के साथ ही पुलिस चौकी को आग लगाने की खबर है।

सुप्रीम कोर्ट के फैसले से नाराज दलित छात्रों ने मेरठ के चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय कैंपस में मैन गेट पर भी ताला बंदी कर दी। छात्रों ने कैंपस में तोड़फोड़ करते हुए लाइटें और पंखे भी तोड़ डाले।

दलितों ने तेजगढ़ी चौराहा कब्जा कर आवाजाही पूरी तरह से बाधित कर दिया है। इसके साथ ही कई जगहों पर बसों को भी जलाने की खबर है। पुलिस ने लोगों को आज दिल्ली से देहरादून की ओर न जाने की सलाह दी है।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया